सफूरा जरगर को ट्रोल करने वालों के खिलाफ DCW ने दिल्ली पुलिस साइबर सेल को भेजा नोटिस

सफूरा जरगर गर्भवती है और जेल में है। वह दोषी है या नहीं इसका फैसला अदालत करेगी। लेकिन जिस तरह से ट्रोल्स ने उनकी मर्यादा को अपमानित किया है और प्रेग्नेंट महिला के चरित्र को शर्मसार किया है वह शर्मनाक है।

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने दिल्ली पुलिस की साइबर सेल को सफूरा जरगर मामले में नोटिस जारी कर दोषियों के खिलाफ तुरंत करवाई करने की मांग की है।

स्वाति मालीवाल ने ट्विटर पर लिखा ,” सफूरा जरगर गर्भवती है और जेल में है। वह दोषी है या नहीं इसका फैसला अदालत करेगी। लेकिन जिस तरह से ट्रोल्स ने उनकी मर्यादा को अपमानित किया है और प्रेग्नेंट महिला के चरित्र को शर्मसार किया है वह शर्मनाक है। ट्रोलों के खिलाफ करवाई करने के लिए दिल्ली पुलिस साइबर सेल को सूचना जारी की है। ”

आपको बता दें ,जामिया मिलिया इस्लामिया की छात्रा सफूरा जरगर को गैरकानूनी गतिविधि रोकने के कानून के तहत 10 अप्रैल 2020 को गिरफ्तार किया गया था। गैर जमानती धाराओं में उनके खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

गिरफ्तारी के बाद से ही सफूरा जरगर पर घटिया व्यक्तिगत हमले किए जा रहे हैं। पिछले कई दिनों से उनके खिलाफ सोशल मीडिया प्लेटफार्म ट्वीटर पर आपत्तिजनक बातें लिखी जा रही है।

ट्विटर पर उनके अविवाहित प्रेग्नेंट होने की अफवाह फैलाई जा रही है। सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि सफूरा जरगर अविवाहित है और उनकी प्रेग्नेंसी का पता जेल में कोरोना वायरस टेस्ट के दौरान चला है।

हालांकि सफूरा जरगर की निजी जिंदगी का उनके केस से कोई लेना-देना नहीं है। फिर भी उनको निशाना बनाया जा रहा है। फैक्ट चेक वेबसाइट ऑल्ट न्यूज़ के अनुसार सफूरा जरगर की साल 2018 में शादी हो चुकी है।

Comments

Translate »