EVM Hacking Case: साइबर एक्सपर्ट के दावों के बाद भारतीय राजनीती में मचा हड़कंप

देश की 12 राजनैतिक पार्टियों ने ईवीएम में गड़बड़ी कर जीते चुनाव:सैयद

हैकिंग मामले की रॉ या सुप्रीम कोर्ट करे जाँच:धनजय मुंडे

सोमवार को लंदन में भारतीय पत्रकार संघ के सामने तथाकथित साइबर विशेषज्ञ सैयद ने स्काइप के जरिए मुंह ढांप कर ईवीएम पर किए चौंकाने वाले खुलासे। भारतीय चुनाव आयोग सैयद शुजा के आरोपों को बताया निराधार। चुनाव आयोग मामले को लेकर क़ानूनी कार्यवाही करने पर कर विचार।

तथाकथित पूर्व इलेक्ट्रॉनिक्स कॉर्पोरेशन ऑफ़ इंडिया के पूर्व कर्मचारी बताने वाले सैयद शुजी ने सनसनीखेज खुलासा करते हुए कहा कि बीजेपी ने आम चुनाव 2014 को वोटिंग में धांधली कर जीता था। सैयद के अनुसार देश की कई बड़ी राजनितिक पार्टियों ने उनकी सेवाएं लेकर चुनाव जीते थे। बीजेपी आलावा कांग्रेस,बसपा,सपा और आम आदमी पार्टी सहित कुल 12 दलों पर लगाया धांधली का आरोप।

सैयद शुजा ने संवादताओं के सामने आरोप लगाया कि उनकी टीम के कई सदस्यों को मार दिया गया था। वे अपनी जान बचाकर अमेरिका भाग आए। सैयद ने दावा किया कि टेलीकॉम क्षेत्र की बड़ी कंपनी रिलायंस जियो ने कम फ्रीक्वेंसी के सिग्नल पाने में भाजपा की मदद की थी। ताकि ईवीएम मशीनों को हैक किया जा सके। (आपको बता दें,रिलायन्स जियो 2016 में शुरू हुई 2014 में इसका कोई अस्तित्व ही नहीं था )

सैयद शुजा के मुताबिक भाजपा राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में चुनाव जीत जाती अगर उनकी टीम ने इन तीनों राज्यों में ट्रांसमिशन हैक करने की भाजपा की कोशिश को पकड़ नहीं लिया होता।

चुनाव आयोग ने कहा कि यह मात्र दुर्भावना से प्रेरित बहस का हिस्सा है। भारतीय चुनावों में इस्तेमाल होने वाली सभी वोटिंग मशीनें पुख्ता हैं। इनके साथ किसी भी तरह से छेड़छाड़ करना असंभव है। चुनाव आयोग ने एक बार फिर से दोहराया कि उसके द्वारा इस्तेमाल किये जाने वाले ईवीएम का निर्माण भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड और इलेक्ट्रॉनिक्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड कड़ी निगरानी और सुरक्षा के बीच होता है।

किसने क्या कहा ?   

Election Commission of India (ECI) writes to Delhi Police requesting it to lodge an FIR & investigate properly the statement made by Syed Shuja yesterday at an event in London claiming to demonstrate EVMs used by ECI can be tampered with pic.twitter.com/Fgdn7Ys4zY— ANI (@ANI) January 22, 2019

भारतीय चुनाव आयोग ने दिल्ली पुलिस को पत्र लिखकर लंदन में किए कार्य्रक्रम की जाँच करने की दरख्वास्त की।

Union Minister RS Prasad on y’day’s event in London: What was Mr Kapil Sibal doing there? In what capacity was he present there? I believe he was monitoring the situation on behalf of Congress party. Is the Congress sponsored event designed to insult the popular mandate of 2014? pic.twitter.com/f6FMxm3oj7— ANI (@ANI) January 22, 2019

केंद्रीय मंत्री आरएस प्रसाद की टिप्पणी

EC takes cognisance of London presser claiming the EC-EVMs can be hacked, writes to Delhi Police for registration of an FIR and investigation pic.twitter.com/xrqgw5smQT— Nistula Hebbar (@nistula) January 22, 2019

ECIL has informed EC that Syed Shuja, who at a press conference in London claimed he was associated with EVM designing at ECIL, was never its regular employee or part of its EVM design & development team from 2009-14. TOI had reported the fact this morning— Bharti Jain (@bhartijainTOI) January 22, 2019

By opposing EVMs on a global stage in London, Kapil Sibal has attacked the very foundations of India’s election machinery

Congress pretends to champion democracy, but has no qualms destroying institutional integrity of that very democracy for the sake of supposed political gains https://t.co/4khyu2bTZ2— Rajyavardhan Rathore (@Ra_THORe) January 22, 2019

Kapil Sibal, Congress: He (Ashish Ray) sent me a personal e-mail also. I told him that I will be in London for some personal work & he insisted that I should come as they are going to make an important revelation. So I went https://t.co/P3doD1og4S— ANI (@ANI) January 22, 2019

G Kishan Reddy,BJP: Man named #SyedShuja made allegations against me in London y’day,in front of Congress’ Kapil Sibal, that my friends & I killed 11 people in Hyderabad. It was your govt then. Your officers were working at that time, how could I kill 11 ppl over tampering issue? pic.twitter.com/3pKF5iXJri— ANI (@ANI) January 22, 2019

Mayawati: Keeping democracy’s larger interest in view,essential to look into EVM matter so that it gets resolved soon. It’s possible to validate ballot paper but it’s not the case with EVM. We demand EC to hold 2019 general election using ballot paper,taking this into cognizance. pic.twitter.com/iNSxO9CSnc— ANI UP (@ANINewsUP) January 22, 2019


बसपा सुप्रीमो मायावती ने 2019 का चुनाव बैलेट पेपर से करवाने मांग की

Akhilesh Yadav, SP chief: If someone has raised a question then it must be thought that what is the reason that a developed country like Japan is not using EVMs. It is not a question of a political party, it’s a question of trust in democracy. EC & govt should make a decision. pic.twitter.com/r5zvjDDInK— ANI UP (@ANINewsUP) January 22, 2019

समाजवादी पार्टी के मुखिया और पूर्व मुख्यमंत्री ने एएनआई को कहा अगर किसी ने सवाल किया है तो इसकी जाँच होनी चाहिए। जापान जैसे उन्नत देश ईवीएम का इस्तेमाल नहीं करते। ये सवाल राजनितिक पार्टियों का नहीं है ये प्रजातंत्र में विश्वास कायम रखने का है। चुनाव आयोग और सरकार को इसके बारे में निर्णय लेना चाहिए।

अंततोगत्वा,जब कोई बात निकलती है तो दूर तक जाती है। खामोश !!! शॉटगन का डायलॉग। न्यूज़ सोर्स भाषा

Comments

Translate »