उद्धव ठाकरे के इस्तीफे पर कंगना रनौत का रिएक्शन, वीडियो शेयर कर कहा- ‘जब पाप बढ़ता है तो सर्वनाश होता है’

कंगना रनौत ने वीडियो शेयर करते हुए कहा कि ‘2020 में मैंने कहा था की लोकतंत्र एक विश्वाश है और सत्ता के घमंड में आकर जो इस विश्वाश को तोड़ता है, उसका घमंड टूटना भी निश्चित है।’

महाराष्ट्र के पूर्व सीएम उद्धव ठाकरे के इस्तीफे के बाद हर तरफ चर्चा का माहौल बना हुआ है। हर कोई उनके इस्तीफे पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहा है। इसी बीच बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत का रिएक्शन भी सामने आया है। कंगना ने उद्धव ठाकरे पर तंज कसते हुए एक वीडियो साझा किया है, जिसमें वे अपनी प्रतिक्रिया दे रही है।

यह भी पढ़े: उद्धव ठाकरे ने फ्लोर टेस्ट से एक दिन पहले महाराष्ट्र के सीम पद से दिया इस्तीफा

बता दे कि साल 2020 में उद्धव ठाकरे सरकार ने अवैध निर्माण का हवाला देते हुए कंगना का मुंबई स्थित ऑफिस तोड़ दिया था। तब कंगना ने सोशल मीडिया के जरिए उद्धव पर खूब भड़ास निकाली थी और साथ ही उनका घमंड टूटने की बद्दुआ भी थी। ऐसे में अब दो साल बाद अपनी कही बातों का जिक्र करते हुए कंगना ने उद्धव ठाकरे के इस्तीफे पर अपनी प्रतिक्रिया दी है।

कंगना ने शेयर किया ये वीडियो

कंगना रनौत ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से एक वीडियो साझा करते हुए कहा- ‘1975 के बाद ये समय भारत के लोकतंत्र का सबसे महत्वपूर्ण समय है। साल 1975 में लोक नेता जय प्रकाश नारायण की एक ललकार से सिंहासन छोड़ो की जनता आती है और सिंहासन गिर गए थे। 2020 में मैंने कहा था की लोकतंत्र एक विश्वाश है और सत्ता के घमंड में आकर जो इस विश्वाश को तोड़ता है, उसका घमंड टूटना भी निश्चित है। यह किसी व्यक्ति विशेष की शक्ति नहीं है, यह शक्ति है सच्चे चरित्र की।

यहां देखिए वीडियो

https://www.instagram.com/p/CfazZUTtncR/

अभिनेत्री ने आगे कहा- ‘और दूसरी बात हनुमान जी को शिव जी का बारहवां अवतार माना जाता है और जब शिवसेना ही हनुमान चालीसा को बैन कर दे तो उन्हें शिव भी नहीं बचा सकता। हर-हर महादेव, जय हिंद।’

Comments

Translate »