Site icon www.4Pillar.news

शोधकर्ताओं का खुलासा,ज्यादातर महिलाएं मुफ़्त में खाने के लिए करती हैं डेट

शोधकर्ताओं का खुलासा,ज्यादातर महिलाएं मुफ़्त में खाने के लिए करती हैं डेट

आज की पीढ़ी का जीवन जीने का तरीका बदल रहा है। हर चार में से एक महिला डेट पर अपने पुरुष साथी के साथ सिर्फ मुफ्त में खाना खाने का आनंद लेने के लिए जाती हैं। सोशल

आज की पीढ़ी का जीवन जीने का तरीका बदल रहा है। हर चार में से एक महिला डेट पर अपने पुरुष साथी के साथ सिर्फ मुफ्त में खाना खाने का आनंद लेने के लिए जाती हैं। सोशल साइकोलॉजिकल एंड पर्सनैलिटी साइंस नाम की मैगजीन में ‘एजुसा पैसिफिक’ यूनिवर्सिटी के ‘ब्रायन कॉलिशन’ ने एक लेख में इस शोध के बारे में बताया है।

एक अध्ययन में यह जानकारी सामने आई है कि चार में से एक महिला किसी ऐसे व्यक्ति से डेट करती है जिससे वह प्यार या संबंध बनाने का इरादा न रख कर केवल मुफ्त में खाना खाने का आनंद लेने के लिए जाती है। शोध में उल्लेख किया गया कि एक ऑनलाइन अध्ययन में 23 से 33 फ़ीसदी महिलाओं ने इस बात को स्वीकार किया है कि वे ‘फूडी कॉल’ में लगी हुई हैं।

कैलिफोर्निया स्थित ‘एजुसा पैसिफिक’ यूनिवर्सिटी और यूनिवर्सिटी ऑफ़ कैलिफोर्निया के शोधकर्ताओं ने पाया कि जिन महिलाओं में ‘डार्क ट्रायड’ पर उच्च स्कोर किया गया है उनमें इस तरह की आदत होती है। सोशल साइकोलॉजिकल एंड पर्सनैलिटी साइंस नाम की मैगजीन में ‘एजुसा पैसिफिक’ यूनिवर्सिटी के ‘ब्रायन कॉलिशन’ ने अपने लेख में लिखा ,” कई डार्क लक्षणों को रोमांटिक संबंधो में भ्रामक और शोषणकारी व्यवहार से जोड़ा गया है। जिसमें ‘वन नाइट स्टैंड’ झूठे संबंध सुख का अनुभव कराना या अनचाही तस्वीरें भेजना शामिल है। पहले अध्ययन में 820 महिलाओं को शामिल किया गया था। उन्होंने उन सवालों की शृंखला का जवाब दिया। जो उनके व्यक्तित्व लक्षणों ,उनकी भूमिकाओं के बारे में विश्वास और ‘फ़ूड कॉल’ इतिहास को मापते हैं।”

पहले समूह की 23 फ़ीसदी महिलाओं ने इस बात को स्वीकार किया कि वह ‘फूड कॉल’ में शामिल हैं। जानकारी के अनुसार, “अधिकांश ने कभी-कभी या शायद ही कभी ऐसा किया। हालांकि जो महिलाएं एक ‘फूडी कॉल’ में व्यस्त थीं, उनका मानना था कि यह अधिक स्वीकार्य है, इसके अलावा ज्यादातर महिलाओं का मानना है कि ‘फूडी कॉल’ को स्वीकार नहीं करती हैं।

Exit mobile version