एडमिरल आर हरी कुमार ने संभाला नौसेना प्रमुख का पदभार,लिया मां का आशीर्वाद

एडमिरल आर हरी कुमार ने मंगलवार के दिन नेवी स्टाफ के नए प्रमुख के रूप में पदभार ग्रहण कर लिया है। उन्होंने एडमिरल केबी सिंह का स्थान ग्रहण किया है। एडमिरल केबी सिंह 30 महीने के कार्यकाल के बाद आज सेवानिवृत्त हो गए हैं।

नेवी चीफ को साउथ ब्लॉक के लोन के में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। आर हरी कुमार ने कहा,” नौसेना प्रमुख के रूप में कार्यभार संभालना मेरे लिए बहुत सम्मान की बात है। इंडियन नेवी का ध्यान हमारे राष्ट्रीय समुद्री हितों और चुनौतियों पर है।’ उन्होंने नौसेना प्रमुख के रूप में कार्यभार संभालने के बाद अपनी मां से आशीर्वाद भी लिया।

एडमिरल कुमार पश्चिमी नौसेना कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ के रूप में कार्यरत थे। 12 अप्रैल 1962 को पैदा हुए एडमिरल कुमार को जनवरी 1983 को नौसेना की कार्यकारी शाखा में कमीशन मिला।

ये भी पढ़ें,इंडियन एयरफोर्स,आर्मी और नौसेना में सेवा देने वाले एकमात्र अधिकारी कर्नल पृथीपाल सिंह गिल 100 वर्ष के हुए 

उन्होंने लगभग 39 वर्षों की लंबी विशिष्ट सेवा के दौरान विभिन्न कमान, स्टाफ निदेशक नियुक्तियों में काम किया है।  उनके समुद्री कमान में आई एन एस निशांत, आई एन एस गोरा और निर्देशित मिसाइल विध्वंसक आई एन एस रणवीर शामिल है। उन्होंने विमान कार्यवाहक जहाज विराट की भी कमान संभाली और पश्चिमी बेड़े के संचालन अधिकारी के रूप में भी काम किया।

ये भी पढ़ें,जूनियर को नेवी चीफ बनाने पर वाईस एडमिरल बिमल वर्मा ने सैन्य अदालत में लगाई गुहार

पश्चिमी नौसेना कमान के c-in-c के रूप में पदभार ग्रहण करने से पहले वह हेड क्वार्टर की एकीकृत स्टाफ समिति, एकीकृत रक्षा स्टाफ के प्रमुख थे। उन्होंने लेवल वार कॉलेज, यूएस आर्मी, आर्मी वार कॉलेज महू और रॉयल कॉलेज ऑफ डिफेंस स्टडी कोर्स और यूके से कोर्स किया है। एडमिरल कुमार परम को विशिष्ट सेवा मेडल, अति विशिष्ट सेवा मेडल और विशिष्ट सेवा मेडल से सम्मानित किया जा चुका है।

Comments

Translate »