प्रधानमंत्री के ‘सराब’वाले ब्यान पर अखिलेश यादव और राजद का पलटवार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेरठ चुनावी रैली में सपा ,बसपा और राष्ट्रीय जनता दल की तुलंना शराब से की।
समाजवादी पार्टी मुखिया अखिलेश यादव और राजद ने किया पलटवार।

समाजवादी पार्टी मुखिया अखिलेश यादव ने ट्विटर पर लिखा –
आज टेली-प्रॉम्प्टर ने यह पोल खोल दी कि सराब और शराब का अंतर वह लोग नहीं जानते जो
नफ़रत के नशे को बढ़ावा देते हैं।
सराब को मृगतृष्णा भी कहते हैं और यह वह धुंधला सा सपना है जो भाजपा 5 साल से दिखा रही है
लेकिन जो कभी हासिल नहीं होता। अब जब नया चुनाव आ गया तो वह नया सराब दिखा रहे हैं।

प्रधानमंत्री के शराब वाले बयान पर लालू प्रसाद की राष्ट्रीय जनता दल ने भी पलटवार करते हुए लिखा –
धत! 5 साल में “श” और “स” का अंतर भी नहीं सीखा !
लो हम सिखाते हैं – शाह का श राजनाथ का र और बुड़बक बीजेपी का ब! बन गया शराबबंदी में
धड़ल्ले से बिकता गुजराती शराब।

पीएम मोदी के सपा,बसपा और रालोद गठबंधन पर दिए गए बयान पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी प्रहार
करते हुए लिखा –
पीएम श्री मोदी ने आज मेरठ से लोकसभा चुनाव अभियान की शुरूआत करते हुए कहा कि मैं
अपना हिसाब दूंगा लेकिन विदेश से कालाधन वापस लाकर गरीबों को 15 से 20 लाख रुपये देने व
किसानों की आय दोगुणी करने आदि जनहित के मुद्दों का हिसाब-किताब दिये बिना ही वे मैदान
छोड़ गए। चौकीदार क्या ईमानदार है।

प्रधान मंत्री मोदी ने अपने मेरठ के भाषण में कहा कि साल 2014 और 2017 में यूपी के लोग दिखा चुके हैं
कि प्रदेश को जातियों में बाँटने की कोशिश अब सफल नही होगी। देश बचेगा तो समाज भी बचेगा। प्रधानमंत्री
मोदी ने सपा बसपा पर कटाक्ष करते हुए कहा कि बोर्ड बदलने से दुकान नही बदलती।

Comments

Translate »