Punjab Election 2022: पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के खिलाफ लगा आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और मानसा से उम्मीदवार सिद्धू मूसेवाला के खिलाफ कथित तौर पर शुक्रवार शाम को प्रचार अभियान खत्म होने के बाद मानसा विधानसभा क्षेत्र में डोर टू डोर प्रचार करने का आरोप लगा है। उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 188 के तहत एफ आई आर दर्ज कराई गई है।

पंजाब में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मियां तेज है। इसी बीच मानसा पुलिस ने पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी सहित हल्का मानसा से कांग्रेस के उम्मीदवार शुभदीप सिंह सिद्धू उर्फ सिद्धू मूसेवाला के खिलाफ आचार संहिता के उल्लंघन में केस दर्ज किया है। चुनाव आयोग के निर्देश के अनुसार शुक्रवार शाम 6:00 बजे चुनाव प्रचार की मियाद खत्म हो चुकी थी। लेकिन सीएम चन्नी मानसा में 6:00 बजे के बाद डोर टू डोर टू प्रचार करते दिखे। मानसा के रिटर्निंग अफसर को जब यह जानकारी मिली तो वे मौके पर पहुंचे पुलिस। जिस समय रिटर्निंग ऑफिसर वहां पहुंचे तो सीएम चरणजीत सिंह चन्नी वहां से जा चुके थे।

एसडीएम हरजिंदर सिंह ने दी यह जानकारी

मानसा के एसडीएम हरजिंदर सिंह ने न्यूज़ एजेंसी एनआईए से कहा कि मैंने मौके पर आकर लोगों से बात करके पता किया कि सीएम चन्नी ने गुरुद्वारा साहिब और मंदिर में माथा टेका है लेकिन उन्होंने प्रचार अभियान नहीं किया। हमारी एफएसटी टीम ने वीडियोग्राफी कर ली है। जिसकी जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी ।

चुनाव प्रचार अभियान के दौरान सीएम चन्नी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी को हर तरफ से बहुत बड़ा रुझान मिल रहा है। मैं अब मानसा आया हूं और बेशक थोड़ा लेट हो गया। इस कारण से मैं लोगों से मिल नहीं सका। मैं उनसे माफी मांगता हूं।

उन्होंने कहा कि सिद्धू एक होनहार नौजवान है और मैं सभी लोगों से अपील करता हूं कि वह सिद्धू मूसेवाला को अपना वोट दें। क्योंकि इन्हें चुनने के साथ आप मुझे भी चुनते हैं, जिससे पंजाब में कांग्रेस पार्टी की सरकार भी आएगी।  उन्होंने कहा कि हमने एक होनहार नौजवान को पंजाब से ढूंढ कर मानसा के लोगों को दिया है।

AAP ने दर्ज कराई शिकायत

आम आदमी पार्टी के जिला प्रधान कमल गोयल ने कहा कि शाम 7:00 बजे के करीब मुझे पता चला कि मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और सिद्धू मुसेवाला त्रिवेणी मंदिर के पास सैकड़ों लोगों को इकट्ठा करके एक सभा को संबोधित कर रहे थे। जब मैंने वहां जाकर देखा तो चन्नी वहां लोगों को संबोधित कर रहे थे। सिद्दू मूसेवाला उनके साथ खड़े थे तथा सैकड़ों लोगों लोग वहां मौजूद थे। उन्होंने पंजाब के चुनाव कमीशन से मांग की है कि अगर हमारे खिलाफ कोई कार्यवाही की जा सकती है तो कानूनी प्रक्रिया के अनुसार सीएम चन्नी और मौके पर मौजूद सिविल तथा पुलिस प्रशासन के अधिकारियों तथा कर्मचारियों पर भी मामला दर्ज किया जाना चाहिए।

Comments

Translate »