Site icon www.4Pillar.news

देश में कोरोना वैक्सीन की कमी के बावजूद विदेश क्यों भेजी गयी वैक्सीन,बीजेपी नेता संबित पात्रा ने दिया ये जवाब 

भाजपा नेता साम्बित पात्रा ने बताया कि देश में कोरोना वैक्सीन की कमी के बावजूद दवा विदेश क्यों भेजी गई

फोटोः संबित पात्रा

देश में वैक्सीन की कमी होने के बावजूद भी विदेशो को वैक्सीन क्यों भेजी गयी? इस बात के लिए केंद्र सरकार पर शुरू से विपक्षी दलों और राज्य सरकारों के आरोप लग रहे हैं। इसका जवाब भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने दिया है।

इस समय देश कोरोना महामारी के दूसरी लहर से जूझ रहा है। ऐसे में केंद्र सरकार पर शुरू से आरोप लगते आ रहे है कि जब देश में कोरोना वैक्सीन की कमी है तो वैक्सीन को विदेशो में क्यों भेजा जा रहा है। आज बीजेपी ने सभी के सवालों के जवाब दिए हैं।

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने बताया की 6.63 करोड़ वैक्सीन भारत से बाहर विदेशो में भेजे गए हैं। उन्होंने बताया कि 1 करोड़ 7 लाख वैक्सीन मदद के रूप में भेजी गयी हैं और बाकि 84 प्रतिशत लायबेलटी (दायीत्व) के रूप में भारत से बाहर भेजी गयी है ।

उन्होंने बताया कि 78.5 लाख वैक्सीन पड़ोसी देशो को दी गयी है। क्योंकि हमें पड़ोस को भी सुरक्षित रखना है और 2 लाख डोज यूएन को दिए गए है। क्योंकि वहां 6000 से ज्यादा हमारे देश के सैनिक पीस कैंपिंग के लिए कार्य कर रहे हैं।

गौरतलब है कि देश में कोरोना की दूसरी लहर के कारण स्वास्थ्य सुविधाओं की बहुत कमी है। कोरोना वैक्सीन को लेकर हमेशा केंद्र और राज्य सरकारों में बहस छिड़ी रहती है। इससे पहले भी दिल्ली सरकार ने केंद्र से वैक्सीन का फार्मूला दूसरी कम्पनियो को देने के लिए कहा था। जिसका जवाब भी आज केंद्र के प्रवक्ता संबित पात्रा ने दिया है।

उन्होंने कहा  की ” कोविशिलङ के पास भारत का लाइसेंस नहीं है। इसका लाइसेंस एस्ट्राजेनेका के पास है और ये कोई ऐसा फार्मूला नहीं है जो किसी भी कंपनी को दे दिया जाए और कोई भी कंपनी इससे घर में ही वैक्सीन बना ले”

Exit mobile version