Site icon www.4Pillar.news

बुलंदशहर हिंसा केस :मुख्यारोपी प्रशांत नट के घर से मिला इंस्पेक्टर सुबोध कुमार का मोबाइल फ़ोन,सर्विस रिवाल्वर की तलाश जारी

बुलंदशहर हिंसा केस में यूपी पुलिस ने 38 लोगों को हिंसा का आरोपी बनाया।इनमें से पांच को इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या का मुख्य आरोपी बनाया।

बुलंदशहर हिंसा केस में यूपी पुलिस ने 38 लोगों को हिंसा का आरोपी बनाया।इनमें से पांच को इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या का मुख्य आरोपी बनाया।

बुलंदशहर हिंसा केस,पुलिस ने प्रशांत नट के घर से इंस्पेक्टर का फ़ोन बरामद किया

उत्तर प्रदेश ,बुलंदशहर में एक पुलिस अधिकारी सुबोध कुमार सिंह की हत्या के मुख्यारोपी प्रशांत नट के घर से मिला शहीद इंस्पेक्टर का मोबाइल फ़ोन। इसंपेक्टर के सर्विस रिवाल्वर की तलाश अभी जारी है।

शनिवार देर रात को कथित हत्यारोपी प्रषांत नट के घर से मिला इंस्पेक्टर सुबोध कुमार का मोबाइल फ़ोन।

3 दिसंबर 2018 को कथित गोकशी के विरोध में हिंसा भड़क गई थी। इस हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और चिंगरावठी गांव के एक युवक सुमित कुमार की हत्या कर गई थी।

हत्या के मुख्यारोपी प्रशांत नट को 27 दिसंबर 2018 की यूपी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था।

शहर के एसपी अतुल श्रीवास्तव के अनुसार मोबाइल को लोकेशन के आधार पर तलाशी अभियान चलाया गया। इस तलाशी अभियान में आरोपी प्रशांत नट के घर से इंस्पेक्टर सुबोध का फ़ोन मिला है।

इसंपेक्टर सुबोध कुमार सिंह पर हिंसा के दौरान गोली चलने का आरोप प्रशांत नट पर है। चिंगरावठी पुलिस थाने में भड़की हिंसा को इंस्पेक्टर सुबोध ने समझा बुझा कर शांत कर दिया था। लेकिन प्रशांत नट ने थाने में पहुंचकर शहीद इंस्पेक्टर सुबोध के साथ झगड़ा कर भीड़ को भड़का दिया। कथित तौर पर ,प्रशांत नट ने इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या उसी की सर्विस रिवाल्वर से कर कर दी थी।

3 दिसंबर 2018 को स्याना इलाके के चिंगरावठी गांव में कथित गोकशी मामले को लेकर हिंसा भड़क गई थी। इस हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह शहीद हो गए। हिंसा के दौरान एक स्थानीय युवक सुमित कुमार को भी इसी हिंसा में अपनी जान गवानी पड़ी। इस मामले में 28 नामजद आरोपी और 55-60 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। इनमे से अभी तक कई मुख्यारोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है। स्पेशल जाँच दल पुरे मामले जाँच कर रहा है।

Exit mobile version