प्रदर्शनकारियों का मर्डर करके उनको चुप नहीं करा सकते, वरुण गांधी ने शेयर किया लखीमपुर खीरी का दूसरा वीडियो

बीजेपी के सांसद वरुण गांधी लगातार लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर एक के बाद एक ट्वीट कर रहे हैं। 3 अक्टूबर को प्रदर्शनकारी किसानों पर गाड़ी चढ़ाने वाली घटना का एक वीडियो खूब वायरल हो रहा था। जिसको उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर साझा किया था। आज गुरुवार के दिन वरुण गांधी ने इस घटना का दूसरा वीडियो साझा किया है। जो पहले से स्पष्ट क्वालिटी का है। इसमें घटनाक्रम पहले से ज्यादा स्पष्ट दिखाई दे रहा है। हालांकि इस वीडियो की अभी तक पुष्टि नहीं हुई है।

लखीमपुर खीरी हिंसा की घटना में 8 लोगों की मौत हो गई थी। जिसमें 4 किसान थे। यह हिंसा तब हुई थी जब प्रदर्शनकारी किसान भारतीय जनता पार्टी के केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा और यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य का एक जनसभा में पहुंचने से पहले काले झंडे दिखाकर विरोध कर रहे थे।

लखीमपुर खीरी हिंसा में 8 लोगों की मौत

भारतीय जनता पार्टी के सांसद वरुण गांधी ने गुरुवार के दिन लखीमपुर खीरी हिंसा की घटना का दूसरा वीडियो अपने ट्विटर अकाउंट पर साझा किया है। इस वीडियो में घटना पहले से ज्यादा स्पष्ट दिखाई दे रही है। वरुण गांधी ने वीडियो ट्वीट कर कहा कि निर्दोष किसानों का खून बहाने वालों का न्याय करना होगा।

एमपी वरुण गांधी ने शेयर किया दूसरा वीडियो

इससे पहले बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने बुधवार के दिन एक ट्वीट में लिखा था,” लखीमपुर खीरी में किसानों को गाड़ियों से जानबूझकर कुचलने का यह वीडियो किसी की भी आत्मा को झकझोर देगा। पुलिस इस वीडियो को का संज्ञान लेकर गाड़ियों के मालिकों, इन में बैठे लोगों और इस प्रकरण में संलिप्त व्यक्तियों को चिन्हित कर तत्काल गिरफ्तार करें।” आपको बता दें लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में सत्तारूढ़ बीजेपी के सांसद वरुण गांधी शायद इकलौते ऐसे नेता हैं जिन्होंने इस घटना को लेकर अपनी आवाज उठाई है ।

लखीमपुर खीरी में हिंसा उस समय भड़क गई जब एक काली एसयूवी थार महिंद्रा गाड़ी प्रदर्शनकारी किसानों को रौंदते  हुए निकल गई थी। वरुण गांधी ने वीडियो ट्वीट कर कहा है कि निर्दोष किसानों का खून बहाने वालों का न्याय करना होगा।

प्रदर्शनकारियों का मर्डर करके उनको चुप नहीं करा सकते

वरुण गांधी ने अपने ट्विटर पर लिखा,’ यह वीडियो बिल्कुल शीशे की तरह साफ है। प्रदर्शनकारियों का मर्डर करके उनको चुप नहीं कराया जा सकता है। निर्दोष किसानों का खून बहाने की घटना के लिए जवाबदेही तय करनी होगी। हर किसान के दिमाग में उग्रता और निर्दयता की भावना घर करे इससे पहले उन्हें न्याय दिलाना होगा।’

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी के इस 45 सेकंड के वीडियो में स्पष्ट देखा जा सकता है कि किसान काले झंडे लेकर सड़क पर आगे बढ़ रहे हैं। उसी दौरान पीछे से एक थार महिंद्रा गाड़ी आती है और उन्हें रौंदते हुए निकल जाती है। किसानों को रौंदने वाली गाड़ी के साथ काफिले में दो अन्य गाड़ियां भी तेजी से निकलती हुई दिखाई दे रही है।

Comments

Translate »