सेहत के लिए जरूरी है पपीता का सेवन, आइए जानते हैं पपीता के फायदे और नुकसान

0
पपीते का सेवन सेहत के लिए जरूरी है, आइए जानते हैं पपीते के फायदे और नुकसान
पपीता

पपीता एक ऐसा फल है जिसमे एंजाइम, खनिज और विटामिन भरपूर मात्रा में होते हैं। यह आपकी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। लेकिन फिर भी कुछ लोगों को और कुछ स्थितियों में पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए। आइए जानते हैं पपीते से जुड़े के नुकसान और फायदे के बारे में।

पपीते का सेवन करने से शरीर में रक्त की मात्रा बढ़ती है। पपीते को कब्ज का रामबाण इलाज भी कहा जाता है। कब्ज  की समस्या होने पर पपीता खाने से यह इस समस्या का निवारण करता है। डेंगू बीमारी होने के पपीता प्लेटलेट को बढ़ाने के लिए पपीते का जूस का सेवन किया जाता है। असल में पपीते स्वाद से भरा भोजन है। पपीता ऐसी विटामिन खनिज एंजाइम से भरपूर होता है जो आपकी सेहत के लिए फायदेमंद है । लेकिन कुछ लोगों को कुछ स्थितियों में इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

किन लोगों किन लोगों को नहीं खाना चाहिए बबीता

त्वचा और सांस से जुड़ी एलर्जी के मरीजों को पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि इसमें पपेन एंजाइम और एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। जिससे कुछ लोगों को एलर्जी हो सकती है। असल में पपीता में मौजूद एंजाइम होता है। इसके ज्यादा सेवन से अस्थमा जैसी सांस संबंधी बीमारी होने का खतरा हो सकता है।

जिन लोगों के गुर्दे में पथरी होती है और लोगों को पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए। इसमें विटामिन सी भरपूर मात्रा में होता है। जो एंटी ऑक्सीडेंट होता है । लेकिन यह एक अध्ययन में यह बात सामने आई है कि पपीते का ज्यादा सेवन करने से गुर्दे की समस्या पैदा हो सकती है। क्योंकि इसमें काफी मात्रा में विटामिन सी होता है।

डायबिटीज के मरीजों को नहीं खाना चाहिए पपीता

ममधुमेह के मरीजों को पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए। पपीता खाते समय सावधानी बरतने की जरूरत है। इसे खाने से खून में ब्लड शुगर का लेवल बढ़ जाता है। डायबिटीज के मरीजों के लिए इसका ज्यादा सेवन करना नुकसानदायक है।

प्रेग्नेंट महिलाओं को करना चाहिए परहेज

प्रेग्नेंट महिलाओं को पपीता नहीं खाने की सलाह दी जाती है। विशेषज्ञों का ऐसा मानना है कि पपीता भ्रूण को नुकसान पहुंचा सकता है। पपीते में लेटेक्स होता है। जो गर्भ के संकुचन का कारण बन सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here