Coronavirusupdates: जानिए क्या होता है लॉकडाउन

भारत में कोरोना वायरस के 81 नए मामले सामने आए हैं। इसकी चपेट में आने से देश में 7 लोगों की मौत हो गई है। कोविड-19 से संक्रमित लोगों की संख्या का आंकड़ा 396 पहुंच गया है। कोरोना वायरस के वजह से देश के 80 शहरों में लॉकडाउन ( lockdown )कर दिया गया है।

लॉकडाउन

कोरोना वायरस  की वजह से गुजरात और बिहार में एक-एक आदमी की मौत हो गई है। इस वायरस से संक्रमित लोगों के 81 नए मामले सामने आए हैं। कोरोना वायरस संकट के चलते केंद्र सरकार और राज्य सरकारों ने कई कड़े फैसले लिए हैं। केंद्र सरकार ने सभी राज्यों के मुख्य सचिवों के साथ बात करने के बाद उन सभी 75 जिलों में लॉकडाउन करने का फैसला लिया है ,जहां कोरोना वायरस के केस पाए गए। ये भी पढ़ें : CoronaUpdatesInIndia: स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्राइवेट लैबोरेट्रीज को दिए कोरोना वायरस की जांच के निर्देश

31 मार्च तक लॉकडाउन

देश में कुल मिलाकर अभी तक 80 शहर लॉकडाउन की स्थिति में हैं। ज्यादातर जिलों और शहरों में 31 मार्च तक लॉकडाउन रहेगा। वहीँ कुछ की समीक्षा अगले दो-तीन दिनों में की जाएगी। इसके बाद आगे का फैसला लिया जाएगा।

ये एक एहतियाती कदम है

अब ये सब जानने के बाद आपके मन में ये सवाल ज़रूर उठ रहा होगा कि ये लॉकडाउन क्या होता है ,इसमें किन चीजों पर पाबंदी रहेगी और किन पर छूट। जी हां, सबसे पहले तो यहां तक पढ़ने के बाद घबराने की जरूरत नहीं है। सरकार ने ये कदम सिर्फ एहतियात बरतने के लिए उठाया है। इसका मतलब यह कतई नहीं है कि घर में ताला बंद हो गए हैं। आइए हम आपको बताते हैं क्या हैं इसके मायने।

क्या रहेगा बंद

लॉकडाउन आदेश आने के बाद पब्लिक ट्रांसपोर्ट ,शिक्षण संस्थान ,निजी संस्थान और दफ्तरों को पूरी तरह से बंद रखा जाएगा। 31 मार्च तक देश की सभी ट्रेन को भी बंद रखने का फैसला लिया गया है। इस मामले में रेलवे बोर्ड ने अधिसूचना जारी कर दी है। मुंबई ,दिल्ली, कोलकाता मेट्रो के अलावा मुंबई की लोकल सेवा को भी 31 मार्च तक के लिए बंद कर दिया गया है।

खुला क्या रहेगा

केंद्र सरकार और राज्य सरकारों द्वारा लिए गए लॉकडाउन के फैसले के बाद दैनिक जरूरत की चीजों की आपूर्ति जारी रहेगी। जिनमें, पेट्रोल पंप ,सीएनजी पंप ,एलपीजी ,दवा की दुकानें ,दूध की डेयरी,किराने की दुकान , अस्पताल ,बैंक ,एटीएम , प्रिंट और डिजिटल मीडिया शामिल हैं

Comments

Translate »