किसान आंदोलन को खालिस्तानी मूवमेंट कहने के आरोप में कंगना रनौत के खिलाफ मुंबई में FIR दर्ज

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ मुंबई के एक पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज की गई है। एक्ट्रेस ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर किसान आंदोलन को खालिस्तानी मूवमेंट कहा था।

फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत अपनी ब्यानबाजी के कारण हमेशा सुर्ख़ियों में रहती है। हालांकि,वह कई बार अपनी गलत ब्यान बाजी के कारण आलोचकों के निशाने पर रही है। अब कंगना रनौत के खिलाफ उनकी ब्यान बाजी को लेकर प्राथमिकी दर्ज की गई है। दरअसल,केंद्र सरकार द्वारा पारित तीन कृषि कानूनों को लेकर देश भर के किसान पिछले लगभग एक साल से आंदोलन कर रहे हैं। इसी मामले में एक्ट्रेस कंगना रनौत ने किसान आंदोलन को खालिस्तानी आंदोलन कहा था , जिसको लेकर अब उनके खिलाफ मुंबई के एक पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज की गई है।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार,” अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ किसान आंदोलन को खालिस्तानी मूवमेंट कहने के तथाकतित आरोप में मुंबई के एक पुलिस थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। ” कंगना ने सोशल मीडिया पर किसान आंदोलन को कट्टरपंथी संगठन खालिस्तान आंदोलन कहा था। इसी कारण उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है।

कंगना रनौत ने शिवसेना पर साधा निशाना कहा- पार्टी के दबाव में जावेद अख्तर ने किया मानहानि का केस

हालाँकि,ये पहला मामला नहीं है जब कंगना के खिलाफ इसी तरह के ब्यानों को लेकर आलोचना और क़ानूनी कारवाई का सामना करना पड़ा है। इससे पहले भी पिछले साल कंगना रनौत को अपनी ब्यानबाजी के कारण महा अगाडी पार्टी के नेता संजय राउत के खिलाफ ‘पंगा’ लिया था। पंगा अभिनेत्री को इस का खमियाजा अपने अपने मुंबई स्थित आवास में तोड़ फोड़ होने पर भुगतना पड़ा था।

हाल ही में कंगना रनौत ने एक ब्यान दिया था। जिसमें उन्होंने कहा था कि असली आजादी तो साल 2014 में मिली है।  1947 में मिली आजादी तो भीख थी। उनके इस ब्यान के कारण काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था।

Comments

Translate »