महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी ने किया गिरफ्तार

महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख को प्रवर्तन निदेशालय ने 12 घंटे की पूछताछ के बाद मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार कर लिया है । अनिल देशमुख पर पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने गंभीर आरोप लगाए थे ।

प्रवर्तन निदेशालय ने 12 घंटे से अधिक की पूछताछ के बाद महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख को मनी लांड्रिंग केस में गिरफ्तार कर लिया है। अनिल देशमुख को इसी साल के शुरुआत में अपने खिलाफ रिश्वतखोरी के आरोपों को लेकर विवाद के चलते अपने गृह मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था। शुक्रवार को मुंबई हाई कोर्ट से ने राहत देने से इंकार कर दिया था। देशमुख ने जांच एजेंसी के समन रद्द करने की अपील की थी। सोमवार को जारी एक वीडियो बयान में  एनसीपी नेता ने कहा कि मेरे खिलाफ सभी आरोप झूठे हैं।

देर रात किया गया गिरफ्तार

अनिल देशमुख अपने वकील के साथ सुबह 11:40 पर दक्षिण मुंबई स्थित ईडी कार्यालय में पहुंचे थे। एनसीपी नेता देर रात तक प्रवर्तन निदेशालय के कार्यालय में रहे थे। ईडी ने देशमुख को लगभग 12 घंटे की पूछताछ के बाद देर रात गिरफ्तार कर लिया।

प्रवर्तन निदेशालय के संयुक्त निदेशक सत्यव्रत कुमार और कुछ अधिकारियों रात 9:00 बजे एजेंसी कार्यालय में गए थे। इससे पहले ईडी द्वारा पांच बार समन जारी किए जाने के बावजूद देशमुख पेश नहीं हुए थे। मुंबई उच्च न्यायालय ने बीते सप्ताह सभी समन को रद्द करने से इनकार कर दिया था। जिस के बाद वह जांच एजेंसी के समक्ष पेश हुए थे।

पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने लगाए थे आरोप

पूर्व गृह मंत्री पर मुंबई के पुलिस पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने भ्रष्टाचार और जबरन वसूली के आरोप लगाए थे।  महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखे एक पत्र में परमबीर सिंह ने अनिल देशमुख पर हस्तक्षेप करने और हर महीने होटलों और मॉल से 100 करोड रुपए की जबरन वसूली करने के लिए पुलिस को कहा था। फिलहाल परमबीर सिंह सिंह भी फरार है। उनके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया जा चूका है।

Comments

Translate »