कोरोना वायरस महामारी काल में वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण की पांचवी प्रेस कांफ्रेंस के मुख्य अंश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 20 हजार करोड़ रुपए घोषणा के बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज रविवार के दिन पांचवी प्रेस कॉन्फ्रेंस की। जिसमें उन्होंने राहत पैकेज से जुड़ी जानकारियां दी है।

मुफ्त अनाज और दाल

उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस की शुरुआत में कहा कि किसानों को 2 महीने के लिए मुफ्त अनाज और दाल देने की घोषणा की गई। इसके अलावा 20 करोड लाभार्थियों के खातों में पैसे पहुंचाए गए स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए 15000 करोड़ की घोषणा की

वित्त मंत्री का धन्यवाद

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, एफसीआई नाफेड और राज्य सरकारों का धन्यवाद कहना चाहूंगी कि  कोरोना वायरस संकट के समय में गरीबों और जरूरतमंदों को अनाज देने में बड़ी भूमिका निभाई ।

जनधन खाते

सीतारमन ने कहा व डी बीडी के जरिए लाभार्थियों तक सहायता राशि भेजी जा रही है यह तब संभव होगा। जब हम आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल पिछले साल 4 सालों से अधिक समय से कर रहे हैं। 20 करोड जनधन खातों में पैसे भेजे गए ।

जिसमें 10025 करोड की मदद दी गई है। 6.81 करोड फ्री सिलेंडर उज्ज्वला योजना के तहत  ,गरीबों के लिए मुफ्त अनाज मुहैया कराया जा रहा है । प्रोडक्शन के कामों में मजदूरों की मदद की जा रही है। 8.19 करोड़ किसानों के खातों में 2000 रुपए की किस्त दी गई ।

उन्होंने कहा आरोग्य सेतु ऐप को करोड़ों लोगों ने डाउनलोड किया। भीम ऐप की तरह ये भी लोगों के लिए बहुत लाभकारी है। ये भी पढ़ें : एक्ट्रेस मल्लिका शेरावत का योगा वीडियो खूब हो है वायरल,आप भी देखें

स्वास्थ्य सेवाओं की जानकारी देते हुए वित्त मंत्री ने कहा  ,जहां पहले भारत में एक भी पीपीई किट बनाने की कंपनी नहीं थी आज 300 से ज्यादा यूनिट है। आज एक दिन में तीन लाख से ज्यादा पीपीई किट बनाई जा रही है। N95 मास्क भी लाखों की संख्या में बनाए जा रहे हैं। लगभग 11 करोड हाइड्रोक्सीक्लोरोक्लीन टेबलेट का भी उत्पादन किया गया है।

पब्लिक सेक्टर

आत्मनिर्भर भारत बनाने के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा पब्लिक सेक्टर  इंटरप्राइजेज पॉलिसी लाइ जाएगी। सभी सेक्टर को प्राइवेट सेक्टर के लिए खोला जाएगा। लेकिन साथ में सरकारी कंपनियां भी रहेगी। दूसरे सेक्टर में भी  सरकारी कंपनी का निजीकरण किया जाएगा।

फिजूल खर्च और प्रशासनिक खर्च को कम करने के लिए एक से चार एंटरप्राइजेज रहेंगी बाकी का निजीकरण किया जाएगा या विलय किया जाएगा या फिर होल्डिंग कंपनी के साथ किया जाएगा। ये भी पढ़ें : पूर्व मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद का खुलासा-धोनी को इस वजह से किया गया था टीम इंडिया से बाहर

कोविड-19

राहत पैकेज के बारे में आगे जानकारी देते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार ने कोवीड-19 के समावेश के लिए अब तक  स्वास्थ्य संबंधी उपायों के लिए 15000 करोड़ रुपए का भुगतान किया है। जिसमें पीएमजीकेवाई के तहत स्वास्थ्य पेशेवरों के लिए प्रति व्यक्ति 5000000 रुपए का बीमा शामिल है। ये भी पढ़ें : Video:विराट कोहली आयुष्मान खुराना कृति सनोन और सारा अली ने फेक न्यूज़ पर लगाम लगाने की अपील की

शिक्षा के क्षेत्र के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि देश के 100 विश्वविद्यालय 30 मई तक ऑनलाइन कोर्स की शुरुआत कर देंगे। पहली कक्षा से 12वीं कक्षा के छात्रों के लिए हर क्लास का अलग टीवी चैनल होगा। 200 नई पाठ्य पुस्तकें ईपाठशाला में जोड़ी गई।

Comments

Translate »