26/11 मुंबई हमले के आतंकवादी अजमल कसाब को जिंदा पकड़ने वाले इंस्पेक्टर संजय गोविल्कर हुए निलंबित

26/11 मुंबई हमले के आरोपी आतंकवादी अजमल कसाब को जिंदा पकड़ने वाले पुलिस इंस्पेक्टर संजय गोविल्कर और दूसरे अन्य असिस्टेंट-सब-इंस्पेक्टर जितेंद्र सिंगोट को मुंबई पुलिस आयुक्त ने निलंबित कर दिया है।

‘इंस्पेक्टर संजय गोविल्कर’ और असिस्टेंट-सब-इंस्पेक्टर ‘जितेंद्र सिंगोट’ को दाऊद इब्राहिम के गुर्गे ‘सोहेल भमला’ भामला को छोड़ ने के आरोप में निलंबित किया गया है। सोहेल को मुंबई अंतराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर दुबई से आने के बाद गिरफ्तार किया गया था। सोहेल के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी था। दोनों अफसरों ने सोहेल को एक पुराने मामले में गिरफ्तार किया था। लेकिन पूछताछ के बाद उसे छोड़ दिया था। इसके बाद सोहेल भागने में कामयाब हो गया था। ड्यूटी में लापरवाही की जानकारी मिलने के बाद मुंबई पुलिस आयुक्त संजय बर्वे ने दोनों को निलंबित कर जांच के आदेश दे दिए हैं।

26/11 मुंबई हमले की रात को पुलिस इंस्पेक्टर संजय गोविल्कर शहीद कांस्टेबल तुकाराम ओम्बले के साथ तिरगांव चौपाटी पर थे। अजमल कसाब और इस्माइल की गाडी को रोककर जहाँ तुकाराम ने कसाब को पकड़ावहीं पुलिस इंस्पेक्टर संजय गोविल्कर ने इस्माइल को गोली मार दी थी। इस करवाई में ‘तुकाराम ओम्बले’ शहीद हो गए थे। संजय गोविल्कर को इस बहादुरी के लिए राष्टपति पुलिस पुरस्कार मिला था।

Comments

Translate »