नमो टीवी पर बीजेपी को झटका ,चुनाव आयोग ने सामग्री पर तुरंत प्रभाव से लगाई रोक

चुनाव आयोग ने नमो टीवी पर प्रसारित सामग्री को तुरंत प्रभाव से हटाने का दिया आदेश। आयोग ने कहा चैनल को बीजेपी चला रही है। टीवी पर चलने वाली सामग्री का प्री सर्टिफिकेशन नहीं किया गया।

नमो टीवी को लेकर चुनाव आयोग का बीजेपी को कड़ा झटका दिया है। आयोग ने नमो टीवी पर बिना इजाजत के दिखाई जा रही सामग्री को तुरंत प्रभाव से हटाने के लिए कहा। अब चुनाव आयोग के निर्देश अनुसार नमो टीवी पर बिना इजाजत डाली गई पूरी सामग्री को हटाया जाएगा।

चुनाव 2019 नमो टीवी को लेकर बहुत विवाद हुआ। विपक्षी दलों की तरफ से चुनाव आयोग में की गई शिकायत के बाद यह एक बड़ा मुद्दा बन गया था। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की जितनी भी रैलियां हो रही थी उन सबका प्रसारण नमो टीवी पर हो रहा था। रैलियों का प्रसारण बिना किसी रुकावट के हो रहा था। टीवी पर प्रधान मंत्री के पुराने भाषण और रैलियों को दिखाया जा रहा था।

गुरूवार को चुनाव आयोग ने नमो टीवी की सभी सामग्री को तुरंत प्रभाव से हटाने का निर्देश दिया है। आयोग ने निर्देश दिया है कि बिना कमेटी की मंजूरी के नमो टीवी पर कोई सामग्री प्रसारित न की जाए और बिना इजाजत डाली गई सामग्री को हटाया जाए।

नमो टीवी के खिलाफ कांग्रेस पार्टी और आम आदमी पार्टी ने चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराई थी। इसके बाद आयोग ने सुचना एवम प्रसारण मंत्रालय से नमो टीवी के बारे में विस्तृत ब्यौरा मांगा था।

आपको बता दें टाटा स्काई ने भी एक उपभोक्ता द्वारा चैनल के बारे में मांगी गई जानकारी के जवाब में इस चैनल को न्यूज़ चैनल बताया था। आम आदमी पार्टी ने चुनाव आयोग में यह कहते हुए शिकायत दर्ज कराई थी कि क्या आचार संहिता लागु होने के बाद भी किसी राजनितिक दल को अपना चैनल शुरू करने की अनुमति दी जा सकती है।

Comments

Translate »