पश्चिम बंगाल विधानसभा उपचुनाव में देरी को लेकर बढ़ी ममता बनर्जी की चिंता, जल्द उपचुनाव की मांग को लेकर EC से मिलने जाएगा टीएमसी प्रतिनिधिमंडल

वेस्ट बंगाल विधानसभा चुनाव में बीजेपी को हराकर प्रचंड बहुमत हासिल करने वाली ममता बनर्जी की विधानसभा उपचुनाव को लेकर चिंताएं बढ़ गई हैं। नंदीग्राम विधानसभा सीट से ममता बनर्जी बीजेपी के नेता शुभेंदु अधिकारी से चुनाव हार गई थी। ममता बनर्जी ने 4 मई 2021 को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी । अब संविधान के नियम अनुसार उन्हें 6 महीने के अंदर विधानसभा का सदस्य निर्वाचित होना होगा।

नंदीग्राम से हारकर सीएम बनी ममता बनर्जी 

पश्चिम बंगाल विधानसभा उपचुनाव को लेकर ममता दीदी की चिंता बढ़ गई है। बंगाल में विधानसभा उपचुनाव कराने की मांग को लेकर तृणमूल कांग्रेस पार्टी का प्रतिनिधिमंडल गुरुवार के दिन चुनाव आयोग को ज्ञापन देकर उपचुनाव जल्द कराने की मांग करेगा। गौरतलब है कि विधानसभा चुनावों में ममता बनर्जी अपने ही पूर्व सिपेहसलार और वर्तमान में बीजेपी के नेता शुभेंदु अधिकारी से पराजित हुई है। भारतीय संविधान के नियम अनुसार उन्हें 6 महीने के अंदर विधानसभा का सदस्य निर्वाचित होना है। बता दे बंगाल में एमएलसी नहीं है। संविधान के अनुसार अगर विधानसभा का सदस्य नहीं होता है तो उसे एमएलसी का सदस्य होना जरूरी होता है।

चुनाव आयोग से मिलेगा टीएमसी प्रतिनिधिमंडल

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार तृणमूल कांग्रेस पार्टी के प्रतिनिधि मंडल में शुभेंदु शेखर राय, लोकसभा के सांसद सौगाता रॉय और टीएमसी के राज्यसभा सांसद डेरेक ओ ब्रायन शामिल हो सकते हैं। इससे पहले ममता बनर्जी ने एक बयान में कहा था कि उपचुनाव के लिए और ज्यादा दिनों की जरूरत नहीं है। हम तैयार हैं।

टीएनसी प्रतिनिधिमंडल 7 दिनों के चुनाव प्रचार में उपचुनाव की मांग करेगा। तृणमूल कांग्रेस नेताओं का कहना है कि फिलहाल पश्चिम बंगाल में कोरोना का संक्रमण कम हो गया है। ऐसी स्थिति में 7 दिनों के अंदर चुनाव प्रचार का समय देकर उपचुनाव कराए जा सकते हैं। टीएमसी नेता ने कहा कि शीघ्र ही उपचुनाव कराए जाने चाहिए। उपचुनाव के लिए और दिन देने की जरूरत नहीं है। हम तैयार हैं। उन्होंने बताया कि बंगाल में 8 चरणों के मतदान हुए हैं। सातवें और आठवें चरण में कोरोना संक्रमण काफी बढ़ गया था। अब तो संक्रमण की दर भी काफी घट गई है और फिर उपचुनाव करने में क्या दिक्कत है ।

इन विधानसभा सीटों पर होने हैं उपचुनाव 

आपको बता दें पश्चिम बंगाल के खरदह , शमशेरगंज , जंगीपुर सांतिपुर, भवानीपुर दिनहाटा और गौसाबा विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने हैं। नंदीग्राम में हार का सामना करने के बाद सीएम बनी ममता बनर्जी अब भवानीपुर विधानसभा सीट से उपचुनाव लड़ने की तैयारी कर रही है। कुछ ही दिन पहले ममता बनर्जी के मंत्री शोभनदेब चट्टोपाध्याय ने भवानीपुर विधानसभा सीट से विधायक पद से इस्तीफा दिया था। वह सीट खाली है। ऐसे में माना जा रहा है कि ममता बनर्जी भवानीपुर से ही उपचुनाव लड़ेंगी ।

Comments

Translate »