माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक बिल गेट्स ने दिया इस्तीफ़ा

प्रौद्योगिकी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स ने कंपनी के निदेशक मंडल से इस्तीफ़ा दे दिया है। शुक्रवार के दिन माइक्रोसॉफ्ट कंपनी ने यह जानकारी दी है।

बिल गेट्स के इस्तीफ़े के बारे में सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने कहा कि बिल गेट्स ने स्वास्थ्य विकास और शिक्षा जैसे सामाजिक और परोपकारी कार्यों को ज्यादा समय देने के लिए निदेशक मंडल से हटने का फैसला लिया है। कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सत्य नडेला और अन्य शीर्ष अधिकारियों की तकनीकी सलाहकार बने रहेंगे।

पाल एलेन के साथ मिलकर बिल गेट्स ने 1975 में माइक्रोसॉफ्ट की स्थापना की थी। गेट्स ने साल 2000 में खुद को मुख्य कार्यकारी अधिकारी की भूमिका से अलग कर लिया था। जिसकी वजह चैरिटेबल फ़ाउंडेशन को ज्यादा समय देना था। अदनान सामी कंगना रनौत और करण जौहर को मिला पद्म श्री पुरस्कार 2020

बिल एंड मेलिंडा गेट्स फ़ाउंडेशन को ज्यादा समय देने के लिए बिल गेट्स 10 साल पहले कंपनी के रोज़ाना परिचालन से अलग हुए थे। वह फरवरी 2014 तक माइक्रोसॉफ्ट के निदेशक मंडल के चेयरमैन रहे। बिल गेट्स दुनिया के अमीर लोगों में से एक है।

सीईओ सत्य नडेला ने की प्रशंसा

माइक्रोसॉफ्ट की वेबसाइट पर जारी एक बयान के अनुसार माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्य नडेला ने कहा, “पिछले कई सालों में बिल गेट्स के साथ काम करना और उनसे सीखना बहुत ही सम्मान और सौभाग्य की बात है। बिल गेट के नेतृत्व में कंपनी के निदेशक मंडल को बहुत लाभ हुआ है। ”

उन्होंने आगे कहा ,” माइक्रोसॉफ्ट अपने उत्पादों और सेवाओं को आगे बढ़ाने के लिए बिल गेट्स के तकनीक ज्ञान और सलाह का लाभ उठाती रहेगी। हमारे शेयरधारकों और निदेशक मंडल की तरफ से मैं माइक्रोसॉफ्ट में योगदान के लिए उनकी काफी प्रशंसा करता हूं।”

Comments

Translate »