बदायूं गैंगरेप का मुख्य आरोपी सत्यनारायण गिरफ्तार,जानिए-घटना से जुड़ी अहम बातें

0
बदायूं गैंगरेप का मुख्य आरोपी सत्यनारायण गिरफ्तार, जानिए-घटना से जुड़ी अहम बातें
फोटोः आरोपी महंत सत्यनारायण सिंह

बदायूं गैंगरेप का मुख्य आरोपी सत्यनारायण गिरफ्तार, जानिए-घटना से जुड़ी अहम बातेंबदायूं जिले में महिला के साथ मंदिर में गैंगरेप की घटना ने यूपी की सीएम योगी आदित्यनाथ सरकार के महिला सुरक्षा के दावों पर सवाल खड़े कर दिए है।

पीड़िता के परिवार के आरोप और पोस्टमार्टम की रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने जो मामला दर्ज किया है। उसमें गैंगरेप की धारा और हत्या की धारा के तहत कार्रवाई की जा रही है।

आइए आपको बताते हैं बदायूं गैंगरेप से जुडी कुछ खास बातें।

3 जनवरी 2021 रविवार शाम को 5:00 बजे के करीब मृतक महिला के पास मंदिर के बाबा का फोन आता है। जिसके बाद मृतक महिला अपने बच्चों से यह कहकर जाती है कि इंतजार ना करें क्योंकि उसी मंदिर के पास ही उनका मायका भी है और वह रात में वही रुकेगी। इतना कहने के बाद मृतक महिला मंदिर में जाने के लिए निकल जाती है।

यूपी के बदायूं में 50 वर्षीय महिला के साथ गैंगरेप के बाद हत्या के मामले में मुख्य आरोपी महेंद्र सत्यनारायण को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मंदिर का महंत सत्यनारायण 2 दिन से फरार था। पुलिस ने मुख्य आरोपी पर 50000 रूपये का इनाम भी घोषित किया था। जिस महिला के साथ यह वारदात हुई है। वह साल 2005 से आंगनवाड़ी में काम कर रही थी। घर में वह अकेली कमाने वाली थी। पति मानसिक तौर पर बीमार है।

मंदिर में महिला के साथ गैंगरेप के बाद हत्या के मामले में योगी आदित्यनाथ सरकार ने सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आरोपियों पर एनएसए के तहत कार्रवाई करने का आदेश दिया है।

वहीं विपक्ष ने इस घटना पर योगी सरकार को घेरने की कोशिश की है।

बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और समाजवादी पार्टी ने इस घटना को लेकर ट्वीट के जरिए सरकार पर जमकर निशाना साधा है।

बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने घटना की निंदा करते हुए अपने ट्वीट में कहा, ” उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में एक महिला के साथ हुई सामूहिक दुष्कर्म व हत्या की घटना बहुत दुखद है। अति निंदनीय है। राज्य सरकार इस घटना को गंभीरता से लें व दोषियों को सख्त सजा दिलाना भी सुनिश्चित करें ताकि ऐसी घटना की पुनरावृत्ति ना हो।”

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने योगी सरकार को घेरा है

उन्होंने इस घटना की तुलना हाथरस कांड से करते हुए ट्वीट किया है।प्रियंका गांधी ने लिखा,”हाथरस में सरकारी अमले ने शुरुआत में फरियादी की नहीं सुनी। सरकार ने अफसरों को बचाया और आवाज को दबाया। बदायूं में थानेदार ने फरियादी की नहीं सुनी घटनास्थल का मुआयना तक नहीं किया।”

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के नेतृत्व वाली समाजवादी पार्टी ने बदायूं गैंगरेप सरकार को घेरते हुए ट्वीट किया।

सपा ने लिखा ,” यूपी के बदायूं में पूजा करने आए 50 वर्षीय आंगनवाड़ी सहायिका के साथ गैंगरेप और फिर उसके बाद उसकी निर्मम हत्या ने संपूर्ण मानवता को शर्मसार कर दिया है। डूब मरे सत्ताधीश , जो महिला की सुरक्षा के सिर्फ झूठे दावे करते हैं। दोषियों को जल्द से जल्द सजा मिलनी चाहिए।

आरोपी बाबा का ब्यान 

दूसरी तरफ परिवारवालों के मुताबिक आरोपी बाबा कहना था कि मृतक महिला कुएं में गिर गई थी जिसकी वजह से उनको चोट लगी। बाबा ने यह दावा किया कि वह मृतक महिला को अस्पताल में ले गए। लेकिन अस्पताल के डॉक्टर ने यह कहते हुए इलाज करने से इंकार कर दिया कि पहले से किसी घर वाले से बात करवाईये या बुलाकर लाइए। जिसके बाद वही महिला को घर पर छोड़ कर गए थे।

मुकदमा फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगा

इस मामले को लेकर जिले के डीएम ने कहा कि मुकदमा फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगा प्रशासन ने पीड़िता के परिजनों को 1000000 रूपये की सहायता राशि और सरकारी योजना का लाभ देने की भी घोषणा की है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here