सिद्धू मुसे वाला मर्डर केस के मास्टरमाइंड लॉरेंस बिश्नोई को मानसा अदालत ने 7 दिन के रिमांड पर भेजा

पंजाबी सिंगर सिद्दू मूसे वाला हत्याकांड के मास्टरमाइंड लॉरेंस बिश्नोई को दिल्ली की एक अदालत ने मंगलवार के दिन पंजाब पुलिस को हैंड ओवर कर दिया। जिसके बाद विश्नोई को पंजाब की मानसा अदालत में सुबह चार बजे पेश किया गया। आज सुबह लॉरेंस को मुसे वाला  हत्याकांड मामले में मानसा अदालत ने 7 दिन के रिमांड पर भेज दिया है।

7 दिन का रिमांड

पंजाब की मानसा अदालत ने सिद्दू मूसे वाला हत्या मामले के मास्टरमाइंड माने जा रहे कुख्यात गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई को 7 दिन के रिमांड पर भेज दिया है। सुबह ही गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई को 4:00 बजे मानसा अदालत में पेश किया गया था। जहां पुलिस ने सिद्दू मूसे वाला हत्याकांड में गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई को बुधवार को मानसा कोर्ट के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया था। दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने मंगलवार के दिन पंजाब पुलिस को लॉरेंस बिश्नोई को गिरफ्तार करने की अनुमति देने के बाद उसे पंजाब लाया गया। पंजाब पुलिस के ट्रांजिट आवेदन को अनुमति दी गई।

वकील विशाल चोपड़ा ने किया विरोध

दूसरी तरफ लॉरेंस बिश्नोई की तरफ से पेश हुए वकील विशाल चोपड़ा ने पंजाब पुलिस की अर्जी का विरोध किया था। उन्होंने कहा कि बिश्नोई की सुरक्षा को खतरा है।गैंगस्टर के वकील ने कहा कि हम वर्चुअल पूछताछ और जांच का विरोध नहीं कर रहे हैं। हम पंजाब पुलिस को उसकी फिजिकल ट्रांजिट रिमांड का विरोध कर रहे हैं। पंजाब पुलिस जरूरत पड़ने पर उसे मामले में गिरफ्तार कर सकती। लेकिन दिल्ली में ही।

गोल्डी बराड़ ने ली थी जिम्मेदारी

आपको बता दें, पंजाबी सिंगर सिद्धू मुसे वाला की हत्या के बाद गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई ने पंजाब पुलिस द्वारा अपने एनकाउंटर की आशंका जताते हुए अदालत में अर्जी दाखिल की थी। वहीं, दिल्ली पुलिस ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि सिद्दू मूसे वाला की हत्या कांड का असली मास्टरमाइंड लॉरेंस बिश्नोई की है। इसके अलावा बिश्नोई ग्रुप के सदस्य गोल्डी बराड़ ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी। गोल्डी बराड़ इन दिनों कनाडा में रह रहा है। उसके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया जा चुका है।

क्या है मामला ?

आपको बता दें 29 मई को सिद्धू मुसे वाला की अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। यह घटना सिद्धू सहित पंजाब पुलिस द्वारा 424 अन्य लोगों की सुरक्षा वापस लेने के 1 दिन बाद घटी थी।

Comments

Translate »