सोनीपत उद्योग व्यापार मंडल ने कोरोना काल में प्रशासन द्वारा दुकानें बंद करवाने का कड़ा विरोध किया

0
फाइल फोटो

सोनीपत उद्योग व्यापार मंडल ने कोरोना महामारी के नाम पर प्रशासन द्वारा दुकानों पर 20000 रुपए का जुर्माना लगाने और 15 दिन के लिए सील करने का कड़ा विरोध किया।

हरियाणा के सोनीपत में स्थानीय प्रशासन द्वारा दुकानों को जबरन बंद करवाने ,20 हजार जुर्माना लगाने और 15 के लिए सील करने का व्यापार मंडल ने कड़ा विरोध किया।

प्रशासन द्वारा इस तरह की कार्रवाई के विरोध में सोनीपत व्यापारी एसोसिएशन एवं जिला उद्योग व्यापार मंडल के संयोजक विमल किशोर और महासचिव अनिल गुप्ता ने एक बैठक बुलाई। उन्होंने सोनीपत सीटीएम से फोन पर बात कर इस तरह की करवाई का विरोध करते हुए प्रशासन द्वारा बुलाई गई हर मीटिंग में न बुलाने पर भी नाराजगी जताई। फोन पर बातचीत के दौरान सीटीएम ने भविष्य में प्रशासन द्वारा बुलाई गई हर मीटिंग में बुलाने का आश्वासन दिया।

उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष विमल किशोर ने पत्रकारवार्ता में कहा कि प्रशासन व्यापारियों को सोने का अंडा देने वाली मुर्गी ना समझे। उन्होंने कहा व्यापारियों के साथ अन्याय नहीं होना चाहिए।

विमल किशोर ने कहा , पहले से ही लगातार 4 महीने से मंदी की मार झेल रहे व्यापारियों पर 20000 रुपए का भारी जुर्माना और दुकानें सील करने के आदेश न्याय संगत नहीं है। इससे व्यापारियों में भय पैदा होगा।

महासचिव अनिल गुप्ता ने कहा कि सरकार व प्रशासन व्यापारियों में भय पैदा करके कभी भी व्यापारियों का सहयोग नहीं ले सकता, बिना सहयोग के किसी भी महामारी से आसानी से नहीं लड़ा जा सकता है। इसलिए जिला उद्योग व्यापार मंडल की प्रशासन से अपील है कि व्यापारियों के साथ सख्ती की बजाय मित्रता पूर्ण सहयोग बनाए रखें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here