भारत में फरवरी 2022 में आ सकती है COVID 19 की तीसरी लहर, जानिए कब मिल सकती है राहत

COVID 19 की तीसरी लहर को लेकर अनुमान लगाए जा रहे हैं। देश में कोरोनावायरस के नए वेरिएंट Omicron की वजह से फरवरी 2022 में कोरोनावायरस की नई लहर आ सकती है। महामारी पर नजर रखने वाले सूत्र मॉडल के बारे में दो वैज्ञानिकों ने यह अनुमान लगाया है।

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, आईआईटी कानपुर के सूत्र मॉडल के सह-संस्थापक मनिंद्र अग्रवाल और आईआईटी हैदराबाद के के एम विद्यासागर का मानना है कि यह सबसे खराब स्थिति होगी। फरवरी में दैनिक नए मामले 1.5 से 1.8 लाख के बीच हो सकते हैं।

मनिंद्र अग्रवाल बताई ये बातें

वैज्ञानिक मनिंद्र अग्रवाल का मानना है कि इस नए वेरिएंट की उत्पत्ति दक्षिण अफ्रीका में हुई थी। यदि इसके खिलाफ कोई ठोस उपाय नहीं किए गए तो नए संस्करण का प्रसारण बहुत तेजी से होगा। लेकिन पीक पर पहुंचने के बाद वह तेजी से गिरना भी शुरू कर देगा। दक्षिण अफ्रीका में कोरोना मामलों की संख्या 3 सप्ताह में चरम पर है। हालांकि, यहां पर गिरावट भी शुरू हो चुकी है।

बता दें कि दक्षिण अफ्रीका में कोरोनावायरस के मामलों की औसत संख्या 15 दिसंबर को लगभग 23000 के उच्च स्तर पर पहुंच गई और अब 20,000 से नीचे आ गई है । वही कोरोनावायरस के नए वेरिएंट के बारे में एक बात अभी भी अज्ञात है कि यह किस हद तक रोग प्रतिरोधक क्षमता से बचता है। यह कहना मुश्किल है कि यह प्राकृतिक रूप से बचाता है या फिर वैक्सीन के माध्यम से।

यूके और यूएस की स्थिति

अगर यूनाइटेड किंगडम और संयुक्त राज्य अमेरिका में मौतों और अस्पताल में भर्ती होने के बारे में अनुमानों पर विचार किया जाए तो फिर भी से उम्मीद कोरोना का डर कम होने की संभावना है। यूएस और यूके में संयुक्त रूप से कोरोनावायरस के मामलों का 34% और वर्ल्ड लेवल पर कोरोना से होने वाली दैनिक मौतों का आंकड़ा 20 फीसदी है।

यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन के वेलकम सेंटर फॉर ह्यूमन न्यूरोइमेजिंग के अनुमानों के अनुसार,” यूके में कोविड-19 से मौतें और अस्पताल में भर्ती होने की संभावना जनवरी से पहले सप्ताह में चरम पर रहेगी। 7 जनवरी को अस्पताल में भर्ती होने वालों का दैनिक आंकड़ा 1200 के करीब जाने की अनुमान है। जोकि फिलहाल 919 पर है। वहीं इस महामारी के कारण जान गंवाने वालों की संख्या भी 137 होने की संभावना जताई जा रही है जो कि वर्तमान में 112 है।

Comments

Translate »