दीपिका पादुकोण को जब आते थे सुसाइड करने के ख्याल, एक्ट्रेस ने याद किए डिप्रेशन के वो दर्दनाक दिन 

दीपिका पादुकोण ने डिप्रेशन से उबरने का पूरा क्रेडिट अपनी माँ को दिया है, जिन्होंने दीपिका की उस स्थिति को समझा और उससे बाहर निकलने में उनकी मदद की।

दीपिका पादुकोण बॉलीवुड की दमदार अभिनेत्रियों में से एक है,जिन्होंने कंई हिट फ़िल्में देकर फैंस के दिलों में अपनी जगह बनाई है। दीपिका के फैंस ये तो जानते ही होंगे कि वे डिप्रेशन से जूझ चुकी है। वहीं एक्ट्रेस भी कंई बार अपने डिप्रेशन के दिनों की मुश्किलों के बारे में बात कर चुकी है। अब एक बार फिर दीपिका ने इस बारे में खुलकर बात की। एक्ट्रेस ने बताया एक समय ऐसा था जब उन्हें सुसाइड करने के ख्याल आते थे।

एक्ट्रेस ने याद किए डिप्रेशन के दिन

हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान दीपिका पादुकोण ने अपने डिप्रेशन के दिनों को याद करते हुए कहा कि, ‘मैं अपने करियर के टॉप पर थी और सब कुछ ठीक चल रहा था। इसी वजह से ऐसा कोई कारण भी नहीं था कि मैं वैसा महसूस करूँ जैसा मैं करती थी। वे दिन ऐसे थे जब मैं सिर्फ सोना चाहती थी। मैं जागना नहीं चाहती थी क्योंकि नींद मुझे छुपने का एक तरीका लगने लगा था। कंई बार मुझे आत्महत्या करने के भी ख्याल आते थे।’

दीपिका पादुकोण ने आगे अपने माता-पिता का जिक्र करते हुए कहा कि, ‘मेरे माता-पिता बैंगलुरु में रहते थे। हर बार जब भी वे मुझसे मिलने आते थे, मैं ऐसा दिखाती थी कि सब कुछ ठीक चल रहा है। लेकिन एक दिन जब वे बैंगलुरु वापिस जा रहे थे, तब मैं टूट गई और रो पड़ी।

डिप्रेशन से बाहर निकलने में माँ ने की थी मदद

तब मेरे माँ ने मुझसे कुछ आम से सवाल किए कि बॉयफ्रैंड की वजह से कुछ है ? काम की वजह से ? किसी ने कुछ कहा ? इन सवालों का मेरे पास कोई जवाब नहीं था क्योंकि ऐसा कुछ हुआ ही नहीं था। बस सब कुछ खाली सा था। इस वक्त मेरी माँ को समझ में आ गया था कि मैं डिप्रेशन में हूँ।

दीपिका ने डिप्रेशन से उबरने का सारा क्रेडिट अपना माँ को दिया है। क्योंकि वही थी जिन्होंने दीपिका की उस हालत को समझा और उस सब से बाहर निकलने में उनकी मदद की।

Comments

Translate »