पीएम मोदी बीमार मानसिकता वाले लोगों को ट्वीटर पर क्यों फॉलो करते हैं ?

कांग्रेस नेत्री पंखुड़ी पाठक ने पीएम नरेंद्र मोदी से ट्वीटर पर महिलाओं को गाली देने वाले और अभद्र टिप्णियां करने वालों को फॉलो करने का कारण पूछा है।

बीजेपी आईटी सेल

ऐसा पहली बार नहीं है कि बीजेपी के कुछ ट्रोल ट्विटर एकाउंट हैंडलर ने महिलाओं पर अभद्र टिप्णीयां की हैं। बीजेपी आईटी सेल के ट्रोल लगातार महिलाओं को के खिलाफ लिखते रहते हैं।

हो सकते हैं मतभेद

किसी भी पार्टी या उसके समर्थकों में वैचारिक मतभेद हो सकते हैं ,लेकिन विचारों में फूहड़ता लाना और एक दूसरे पर तर्कसंगत सवालों का जवाब देने की जगह गाली-गलौच पर उतर आना ,किसी भी छोटी या बड़ी राजनितिक पार्टी के भविष्य के लिए अच्छा नहीं होता है। क्योंकि राज और राजनीती बदलती रहती है। याद रहते हैं सिर्फ अच्छे काम।

पीएम नरेंद्र मोदी ने साल 2014 में देश की बागडोर संभालते ही महिलाओं के लिए एक नारा दिया था ,बेटी बचाओ,बेटी पढ़ाओं। उनके इस कदम की विश्व भर में काफी सराहना हुई थी। हालांकि ये नारा आज भी महिलाओं के सम्मान में बोला जाता है लेकिन कुछ लोगों के कारण खोखला हो गया है।

बेटी बचाओ,बेटी पढ़ाओं

कहने का मतलब ये है कि भारतीय जनता पार्टी के कुछ समर्थकों द्वारा सोशल मीडिया पर महिलाओं के खिलाफ लिखना। उनके साथ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करना ‘बेटी बचाओ,बेटी पढ़ाओ’ नारे को धूमील कर रहा है। इसमें खास बात ये है कि इन ट्रोलर्स के खिलाफ पार्टी की तरफ से कोई करवाई भी नहीं होती है।

इससे भी हैरान करने वाली बात है ,पीएम मोदी द्वारा ऐसे लोगों को ट्विटर पर फॉलो करना। प्रधानमंत्री मोदी ने ऐसे काफी लोगों को ट्विटर पर फॉलो किया हुआ है ,जो लगातार महिलाओं को टारगेट करते रहते हैं।

हाल ही में ऐसा ही एक मामला सामने आया है। जिसमें ,प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी द्वारा ट्विटर पर फॉलो किये जाने वाले ‘चौकीदार शेष’ नाम के ट्विटर हैंडलर ने कांग्रेस नेत्री के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग किया।

पंखुड़ी पाठक का सवाल

जिसके बाद पंखुड़ी पाठक ने पीएम मोदी को ट्विटर पर टैग करते हुए सवाल किया है। पंखुड़ी ने लिखा ,” प्रिय पीएम नरेंद्र मोदी जी। यह एक ट्विटर एकाउंट है जिसे आप और आप की पार्टी के अन्य प्रतिष्ठित लोग फॉलो करते हैं। क्या आप देश को बता सकते हैं कि ऐसा क्या है जो इस तरह के व्यकित को इस तरह सम्मान दिया जा रहा है ?क्या यह उसकी बीमार मानसिकता है ? कृपया हमें बताएं। ”

चौकीदार शेष (@pokershash) नाम एक ट्विटर एकाउंट अपनी प्रतिक्रिया देते हुए दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने सख्त करवाई करने की मांग की है।

स्वाति मालीवाल का ट्वीट

डीसीडब्यू चीफ स्वाति मालीवाल ने पंखुड़ी पाठक के ट्वीट के जवाब में लिखा ,” सोशल मीडिया पर गंदी गलियां देना और अभद्रता करना तो ट्रोल्स के लिए आम बात हो गई है। सबसे बड़े दुःख की बात ये है कि ऐसी घटिया सोच वाले व्यक्ति को हमारे देश के प्रधानमंत्री अपने एकाउंट से फॉलो करते हैं। ऐसे सभी ट्रोल्स के खिलाफ कार्यवाही बहुत जरूरी है। बहुत हुआ। ”

पत्रकार रवि नायर  लिखते हैं,” बीजेपी आईटी सेल के कर्मचारियों का हिंसक गलत और अपमानजनक ट्विटर हैंडल से समर्थन करने से साबित होता है कि यह एक संगठित उद्योग है। वहाँ, जितनी गंदी गाली दे सकता है, उतना ही प्रमुख वह बन जाता है।”

हालांकि @pokershash नाम के हैंडलर के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी की तरफ से किसी भी तरह की कोई कार्यवाही करने की बात सामने नहीं आई है। हां ये एकाउंट जरूर डिएक्टिवेट हो गया है।

Comments

Translate »