Site icon www.4Pillar.news

अफगानिस्तान से भारत लौटे 78 लोगों में से 16 लोग COVID 19 पॉजिटिव, केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी भी आए थे संपर्क

अफगानिस्तान से भारत लौटे 78 लोगों में से 16 लोग COVID 19 पॉजिटिव, केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी भी आए थे संपर्क

फोटोः केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी

14 अगस्त 2021 को अफगानिस्तान पर तालिबान कब्जे के बाद से विदेशी लोग वहां से अपने स्वदेश लौट रहे हैं। अफगानिस्तान से भारत लौटे 78 लोगों में से 16 लोग कोविड-19 पाए गए हैं। इनमें गुरु ग्रंथ साहिब को लेकर आए तीनों ग्रंथि भी शामिल है। केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी भी तीनों ग्रंथियों के संपर्क में आए थे। 16 लोगों के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि होने के बाद उन्हें क्वारंटाइन कर दिया गया है ।

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने दिल्ली एयरपोर्ट पर किया था स्वागत 

अफगान पर तालिबान कब्जे के बाद वहां से लौटे 78 लोगों में से 16 कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। जिनमें गुरु ग्रंथ साहब लेकर आए तीनों ग्रंथी भी शामिल हैं। केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी उनसे आकर मिले थे। 78 लोगों को क्वारंटाइन कर दिया गया है। इसी के साथ काबुल एयरपोर्ट से निकलकर लोग जितने भी देशों में पहुंचे हैं वहां भी कोरोना के केसों का खतरा पैदा होगा गया है।

आपको बता दें बहुत मंगलवार को दुशांबे से 78 लोगों को वापस लाया था। जिसमें 25 भारतीय नागरिक तथा कई अफगान सिख और हिंदू शामिल है। 1 दिन पहले उन्हें भारतीय वायु सेना के सैन्य परिवहन विमान से उन्हें दुशांबे पहुंचाया गया था। एयर इंडिया की फ्लाइट के जरिए दुशांबे से दिल्ली लाए गए लोगों के साथ गुरु ग्रंथ साहिब की तीन प्रतिमाएं भी पहुंची हैं। दिल्ली के इंदिरा गांधी राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी और वी मुरलीधरन ने उनका स्वागत किया था।

24 अगस्त मंगलवार के दिन आए लोगों के बाद अब अफगानिस्तान से निकाल कर लाए गए लोगों की संख्या 800 से अधिक हो चुकी है। काबुल पर तालिबान के कब्जे के 1 दिन बाद 16 अगस्त से लोगों को वहां से निकालने की प्रक्रिया शुरू हो गई थी।

हरदीप सिंह पुरी ने ट्वीट किया था कि कुछ देर पहले श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी के तीन स्वरूपों को दिल्ली लाया गया हैं।  इनका स्वागत करने पहुंचे मुरलीधरन ने भी ट्वीट किया था कि मंत्री श्री हरदीप सिंह जी के साथ श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी का स्वागत किया। जो अफगानिस्तान के लोगों के साथ लाए गए हैं। अब इन लोगों से जो भी लोग मिले हैं, वे इस वायरस की चपेट में आ सकते हैं।

Exit mobile version