महाराष्ट्र में बीजेपी का सियासी सर्जिकल स्ट्राइक, जानिए रात के 8 घंटों में कब क्या हुआ

0
महाराष्ट्र में बीजेपी का सियासी सर्जिकल स्ट्राइक, जानिए रात के 8 घंटों में कब क्या हुआ
महाराष्ट्र की राजनीति में शुक्रवार के दिन सब कुछ ठीक हो चूका था। शिव सेना, एनसीपी और कांग्रेस पार्टी सरकार बनाने के लगभग अंतिम चरण पर थे। उद्धव ठाकरे का सीएम बनना लगभग तय हो चूका था।

महाराष्ट्र की राजनीति में शुक्रवार के दिन सब कुछ ठीक हो चूका था। शिव सेना, एनसीपी और कांग्रेस पार्टी सरकार बनाने के लगभग अंतिम चरण पर थे। उद्धव ठाकरे का सीएम बनना लगभग तय हो चूका था। आज शनिवार के दिन तीनों दल राज्यपाल के पास सरकार बनाने का दावा पेश करने वाले थे लेकिन सुबह एएनआई के एक ट्वीट ने सभी दलों (शिव सेना,एनसीपी और कांग्रेस ) के अरमानों पर पानी फेर दिया।

महाराष्ट्र में सरकार बनने से पहले शिव सेना एनसीपी और कांग्रेस द्वारा सबकुछ तय हो चूका था। इस योजना के अनुसार शिव सेना का मुख्यमंत्री 5 साल के लिए बनना तय हुआ था। एनसीपी और कांग्रेस के दो उप-मुख्यमंत्री बनने तय हो चुके थे। शनिवार शाम को शरद पवार ने इसकी घोषणा कर दी थी।

लेकिन रातों-रात कुछ ऐसा हो गया कि एनसीपी नेता शरद पवार के भतीजे अजित पवार बीजेपी के पाले में खड़े हो गए और सुबह उन्होंने उपमुख्यमंत्री की शपथ भी ले ली। देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री की शपथ ली। इस बात की जानकारी तब मिली जब न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने एक ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। एएनआई ने ट्वीट सुबह 8 बजे किया। उसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी,बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह सहित तमाम बीजेपी नेताओं ने सीएम और डिप्टी सीएम को बधाई देना शुरू कर दिया। जिसके बाद मीडिया जगत में भी हलचल मच गई और सभी के कयास और कैमरे नवनियुक्त मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री की तरफ घूम गए।

जानिए किस तरह हुआ महाराष्ट्र की सियासत का सर्जिकल स्ट्राइक :-

  1. रात करीब पौने बारह बजे बीजेपी और अजित पवार में डील पक्की हुई।
  2. 11.55 पर देवेंद्र फडणवीस ने पार्टी को सुचना दी कि शपथ ग्रहण समारोह की तैयारी की जाए।
  3. रात 12.30 पर महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने अपनी दिल्ली यात्रा को रद्द किया।
  4. रात 2 बजकर 10 मिनट पर राज्यपाल के सचिव को कहा गया कि सुबह 5 बजकर 47 मिनट पर प्रदेश से राष्ट्रपति शासन हटाने की अधिसूचना जारी की जाए और सुबह साढ़े छह बजे शपथ ग्रहण की तैयारी की जाए।
  5. ढाई बजे सचिव ने कहा कि वो दो घंटे तक अधिसूचना जारी कर देंगे और 7.30 बजे तक शपथ ग्रहण की तैयारी करवा देंगे।
  6. रात 1.45 बजे से सुबह 9 बजे तक अजित पवार देवेंद्र फडणवीस के साथ रहे और दोनों राजभवन में अपने-अपने पद की शपथ लेकर जनता के सामने आए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here