बीजेपी सरकार ने प्रदेश के नेत्रहीनों को भी नहीं बख्शा:योगेश्वर

0
फोटोः नेत्रहीन लोगों के साथ योगेश्वर शर्मा
फोटोः नेत्रहीन लोगों के साथ योगेश्वर शर्मा

नेत्रहीन कल्याण मंच की लड़ाई लडऩे का दिया भरोसा


पंचकूला: आम आदमी पार्टी का कहना है कि पिछले चार साल से भी ज्यादा समय से आम आदमी को छलती आई हरियाणा की भाजपा सरकार ने प्रदेश के नेत्रहीनों को भी नहीं बख्शा। पार्टी का कहना है कि राज्य की भाजपा सरकार ने नेत्रहीनों के पदां पर पूरी भर्ती न करके जहां उनके साथ विश्वासघात किया, वहीं अब पिछले करीब एक माह से उनकी कहीं कोई सुनवाई न करके भी उनके साथ ज्यादिति की जा रही है।

आम आदमी पार्टी ने नेत्रहीन कल्याण मंच को भरोसा दिया है कि वह उनकी लड़ाई को हर मंच पर लड़ेगी तथा उन्हें उनका हक देेने के लिए सरकार को विवश कर देगी।

आज यहां जारी एक ब्यान में पार्टी के लोकसभा अंबाला तथा जिला पंचकूला के अध्यक्ष योगेश्वर शर्मा ने कहा कि वह अपनी पार्टी के कुछ अन्य पदाधिकारियों के साथ आज शाम सेक्टर 5 में धरणा स्थल पर नेत्रहीन कल्ययाण मंच के सदस्यों से मिले थे। वहां ये लेाग गत करीब एक माह से पहले धरणे पर और अब भूख हडताल पर बैठे हुए हैं।

उन्होंने बताया कि मंच के सदस्यों ने उन्हें अपनी समस्याएं सुनाते बताया कि किस तरह से भाजपा सरकार ने उनके साथ छल किया है।
उन्होंने कहा कि मंच के सदस्यों का कहना है कि हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने 26 अगस्त 2018 को दिए विज्ञापन में 18218 पद निकाले थे जिसमें 145 पद नेत्रहीनों को दिए गये जबकि आरपीडी एक्ट 2016 के तहत ये कम हैं। इस एक्ट के अनुसार उनके पदों की संख्या इनमें 182 बनती थी।

इसके आलावा उनकी मांग थी कि आवेदन करते समय दृष्टिवाधितों का मेडिकल प्रमाणपत्र सीएमओ द्वारा बनाया जाता है उसका नंबर भी मांगा जाना चाहिए। इस प्रमाणपत्र को भी स्कैन करवाया जाना अनिवार्य करवाया जाना चाहिए ताकि यह पता चल सके कि यह मेडिकल प्रमाणपत्र किस अधिकारी द्वारा बनाया गया है और कितने प्रतिशत का है। ताकि सुविधा का दुरुपयोग न हो सके।

आम आदमी पार्टी के लोकसभा अंबाला तथा जिला पंचकूला के अध्यक्ष योगेश्वर शर्मा ने कहा कि मंच के सदस्यों का कहना है कि वे अपनी इन मांगों को लेकर लगातार संघर्ष कर रहे हैं,मगर कोई सुनवाई नहीं हो रही है। इससे पहले एक बार उन्हें मुख्यमंत्री खट्टर से मिलने के लिए बुलाया भी गया और वकायदा उनके पास भी बनाये गये थे। अंदर बुलाकर उन्हें एक घंटा बिठाए रखा गया। उसके बाद उन्हें यह कहकर भेज दिया कि मुख्यमंत्री साहब ऐसे किसी से नहीं मिलते। उसके लिए पहले से मंजूरी लेनी पड़ती है। आप लोगों से किसी ने मजाक किया है।

योगेश्वर शर्मा का कहना है कि भाजपा नेत्रहीनों के साथ भी जुमलेबाजी करने से नहीं चुकी। उन्होंने कहा कि इस मामले की पूरी तरह से जांच करवायी जानी चाहिए कि किसने इन लोगों को मुख्यमंत्री से मिलने के लिए बुलाया था और इनके पास कैसे बने थे? और फिर इन लोगों को मुख्यमंत्री से क्यों नहीं मिलवाया गया?

योगेश्वर शर्मा ने सरकार से मांग की कि इन लोगों की मांग को तुरंत स्वीकार किया जाए। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में प्रदेश की आम जनता इस सरकार को चलता कर देगी।

इस मौके पर उनके साथ जिला आप पंचकूला के सचिव बिट्टू सदाना, पंचकूला के संगठन मंत्री सुरेंद्र राठी, सुभाष अरोड़ा, आर्य सिंह व रोहताश कुमार आदि आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here