दिल्लीः करौलबाग होटल में लगी आग 17 की मौत 35 को बचाया गया

दिल्ली के करौलबाग़ स्तिथ होटल अर्पित पैलेस में लगी भीषण आग। जाँच में ,होटल की लापरवाही पाई गई। अब तक 17 लोगों की मौत हो गई ,लगभग 35 लोगों को बचाया गया।

आज मंगलवार के दिन जब होटल अर्पित पैलेस में आग लगी उस समय ज्यादातर लोग सो रहे थे। आग लगने का कारण शार्ट सर्किट बताया जा रहा है।

शरू में आग हॉटेल के दूसरे माले पर लगी थी बाद में तीसरे चौथे पर भी फैलती चली गई। प्रारम्भिक जाँच में इस अग्निकांड के लिए होटल की लापरवाही नजर आई।

अग्निशमन अधिकारी ,सुनील चौधरी ने न्यूज़ एजेंसी को बताया,”इस अग्निकांड में अब 17 लोगों की जान जा चुकी है ,जिनमें एक बच्चा भी है। अधिकारी के अनुसार होटल का ज्यादातर काम लकड़ी से हुआ हुआ है। जिसके कारण आग ने बहुत जल्दी ही पुरे होटल को अपनी चपेट में ले लिया। इस हादसे में एक औरत और बच्चा भी मारे गए ,जब उन्होंने खिड़की से अपनी जान बचाने के लिए छलांग लगाई। “

दिल्ली के मंत्री,सत्येंद्र जैन घटना स्थल पर पहुंचे ,मीडिया द्वारा पूछे गे सवालों के जवाब में जैन ने कहा ,”हादसे की तस्वीरों को देखकर लगता है कि यात्रियों के लिए बजट वाले होटल अर्पित पैलेस में सबसे पहले ऊपरी मंजिल पर आग लगी। होटल के ऊपरी दो माले अवैध रूप से बनाये गए हैं। “ये एक छह मंजिला होटल है।

अधिकारियों के अनुसार ,कुछ लोगों की मौत धुंए से दम घुटने के कारण हुई है जबकि दो लोगों की छलांग लगाने से।

दिल्ली दमकल विभाग के एक अधिकारी ने बताया, सुबह 4 बजकर 35 मिनट पर उन्हें किसी ने सुचना दी कि होटल अर्पित पैलेस में आग लग गई है। जिसके तुरंत बाद आग बुझाने के लिए 25 गाड़ियां मौके पर तुरंत भेजी गई।

बताते चलें ,यह होटल लगभग 25 साल पुराना है। जिसके मालिक का नाम राकेश गोयल बताया जा रहा है। दिल्ली पुलिस इस अग्निकांड की जाँच में जुटी हुई है ,कैसे आग लगी इसकी रिपोर्ट तैयार की जा रही है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस अग्निकांड में मारे गए लोगों के परिवारों को पांच -पांच लाख रुपए सहायता राशि देने और घटना की न्यायीक जाँच कराने के आदेश दे दिए हैं।

Comments

Translate »