‘ट्विटर को मोहरा न बनने दें’ राहुल गांधी के पत्र का ट्विटर के प्रवक्ता ने दिया जवाब

कांग्रेस पार्टी के नेता राहुल गांधी ने टि्वटर के सीईओ पराग अग्रवाल को एक पत्र लिखा था। जिसमें उन्होंने कहा था कि ट्विटर को मोहरा ना बनने दें। अब ट्विटर के प्रवक्ता ने राहुल गांधी के इस सवाल का जवाब दिया है।

राहुल गांधी को ट्विटर का जवाब 

ट्विटर के प्रवक्ता ने राहुल गांधी के पत्र का जवाब देते हुए लिखा ,”हम चाहते हैं कि सभी विश्वास रखें कि फॉलोअर्स की संख्या सार्थक और सटीक है। ट्विटर अपने प्लेटफार्म पर हेरफेर और स्पैम के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाता है।”

ट्विटर के प्रवक्ता ने आगे कहा,” हम बड़े पैमाने पर स्पैम और दुर्भावनापूर्ण स्वचालन के खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं। अच्छी सेवा उपलब्ध कराने और विश्वसनीय खातों का संचालन सुनिश्चित करने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। इसलिए फॉलोअर्स की संख्या में उतार-चढ़ाव हो सकता है।”

प्रवक्ता ने आगे कहा,” टि्वटर प्लेटफार्म पर हेरफेर स्पैम करने और हमारी नीतियों का उल्लंघन करने के चलते हम प्रत्येक सप्ताह लाखों अकाउंट हटाते हैं। अधिक जानकारी के लिए आप नवीनतम ट्विटर पारदर्शिता केंद्र अपडेट देख सकते हैं।”

क्या है मामला

राहुल गांधी ने 27 दिसंबर को टि्वटर के सीईओ पराग अग्रवाल को पत्र लिखा था। जिसमें उन्होंने अभिव्यक्ति की आजादी पर अंकुश लगाने की ट्विटर की अनजाने में मिलीभगत की बात कही थी।

डेटा विश्लेषण साझा किया 

उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट का डेटा विश्लेषण के साथ-साथ पीएम नरेंद्र मोदी गृह मंत्री अमित शाह और कांग्रेस नेता शशि थरूर के साथ तुलना शामिल की थी। राहुल गांधी ने कहा कि 2021 के पहले 7 महीनों में उनके अकाउंट पर औसतन लगभग 400000 फॉलोवर्स और जोड़े गए। लेकिन पिछले साल अगस्त में 8 दिनों के निलंबन के बाद कई महीनों के लिए यह ग्रोथ अचानक रुक गई।

राहुल गांधी ने कहा,” मैं आपको 1 अरब से अधिक भारतीयों की तरफ से लिख रहा हूं कि ट्विटर को भारत के विचार के विनाश में मोहरा ना बनने दें। जिसके जवाब में ट्विटर ने अपना अधिकारिक बयान दिया है।

Comments

Translate »