कर्नाटक के हुबली में एक ही पंडाल में मनाया जाता है गणेश चतुर्थी और मुहर्रम का त्योहार

0
Ganesh Chaturthi and Muharram festival is celebrated in Hubli every year in the same pandal
कर्नाटक के हुबली में एक ही पंडाल में मनाया जाता है गणेश चतुर्थी और मुहर्रम का त्योहार

कर्नाटक के धारवाड़ जिले के हुबली में हिंदू-मुस्लिम एकता की मिसाल वर्षों से कायम है, यहां गणेश चतुर्थी और मुहर्रम का उत्सव एक ही पंडाल में मनाया जाता है।

आज देश भर में हिंदू-मुस्लिम मुद्दा जोरों पर है। कई टीवी चैनल और प्रिंट मीडिया में अक्सर हिंदू-मुस्लिम पर डिबेट और लेख छपते रहते हैं। लेकिन देश का एक ऐसा हिस्सा भी है ,जहां हिंदू और मुसलमान भाईचारे की अनोखी रीत वर्षों चल रही है। यहां, लोग एक ही पंडाल में गणेश चतुर्थी का उत्सव और मुहर्रम का उर्स एक साथ मनाते हैं।

कर्नाटक के धारवाड़ जिले के हुबली के बिंदल इलाके के निवासी गणेश चतुर्थी और मुहर्रम को एक साथ एक ही पंडाल में मनाते हैं। मोहन नाम के एक भक्त ने न्यूज़ एजेंसी एएनआई को बताया कि जब भी दोनों त्योहारों की तारीखें एक ही दिन पड़ती है, हम एक ही पंडाल में दोनों त्योहारों को मनाते हैं। यह प्रथा वर्षों से चली आ रही है और हम इसे आगे बढ़ा रहे हैं।

ये भी पढ़ें : सरपंच के पति ने एक मंडप में रचाई पत्नी और साली के साथ शादी

भारतीय सेना ने पाकिस्तान आर्मी के 5 आतंकी लॉन्च पैड किए ध्वस्त

WhatsApp एकाउंट को जल्द ही एक से ज्यादा मोबाइल पर चला सकेंगे उपभोक्ता

मौलाना जाकिर काज़ी नाम के एक शख्स ने एएनआई को बताया,” गणेश चतुर्थी और मुहर्रम की तिथियां प्रत्येक 33 से 35 साल में एक बार मेल खाती हैं। इस गांव में कोई भी अकेला हिंदू या मुसलमान नहीं है ,दोनों एक साथ आते हैं। हम सभी भगवान की संतान हैं। ”

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here