नोटबंदी के दौरान 9 करोड़ काला धन जमा करने के आरोप में गौरव सिंघल गिरफ्तार

0
नोटबंदी के दौरान 9 करोड़ काला धन जमा करने के आरोप में गौरव सिंघल गिरफ्तार
फोटोः गौरव सिंघल

नोटबंदी के दौरान 9 करोड़ काला धन जमा करने के आरोप में गौरव सिंघल गिरफ्तार8 नवंबर 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी की घोषणा की थी। उसी दौरान कुछ लोगों ने घोटाले भी किए। दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने 9 करोड रुपए का काला धन बैंक में जमा करवाने वाले गौरव सिंघल को गिरफ्तार कर लिया है।

नोटबंदी घोटाला

शाहदरा निवासी सिंगल ने नोटबंदी के बाद फर्जी दस्तावेज के जरिए बैंकों में 7 अकाउंट खुलवा कर रुपए जमा करवाए थे। बाद में उसने इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से पैसे निकाल लिए थे और अन्य खातों में हस्तांतरण कर दिए थे। उस पर मुकदमा दर्ज होने के बाद वह फरार चल रहा था।

Economic Offences Wing of Delhi Police

दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा के ज्वाइंट कमिश्नर डॉक्टर ओपी मिश्रा ने मीडिया को बताया कि इनकम टैक्स अधिकारी राजेश कुमार गुप्ता ने नोटबंदी के बाद फर्जी दस्तावेज पर खाते खोलकर 9 करोड रुपए काला धन बैंक में जमा करने की शिकायत पुलिस को दी थी।

आरोपी ने बैंक खाता खोलने के लिए फर्जी पहचान पत्र पैन कार्ड अलग-अलग फोटो का इस्तेमाल किया था। मामले की शिकायत दर्ज होने के बाद साल 2018 में पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू की तो पता चला कि खाते दो अलग-अलग योगेश कुमार और राहुल जैन के नाम से खुलवाए गए थे। सभी खातों में गौरव सिंघल का मोबाइल नंबर था।

जांच में यह बात सामने आई थी उन खातों में जमा कराए गए रुपयों को आरोपी ने बाद में मोबाइल और इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से निकाल लिया था। इसके बाद पुलिस ने आरोपी की तलाश शुरू कर दी थी।

फरार चल रहा था आरोपी

पुलिस के डर से आरोपी फरार चल रहा था गौरव सिंघल रोहिणी नोएडा इलाकों में रह रहा था। जब पुलिस को जानकारी मिली कि वह अपने घर के नजदीक ही एक पेइंग गेस्ट हाउस में रह रहा है। जिसके बाद पुलिस की टीम ने नवीन शाहदरा इलाके में दबिश देकर 24 दिसंबर को गौरव को गिरफ्तार किया। पूछताछ में पता चला कि आरोपी शुरुआत में विश्वास नगर में केबल तार कंपनी में सुपरवाइजर था बाद में वह लोगों के संपर्क में आकर वैट और जीएसटी का नकली बिल बनाने लगा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here