दिल्ली: अवैध इंटरनेशनल टेलीफोन एक्सचेंज का हुआ भंडाफोड़, संचालक गिरफ्तार

0
दिल्ली: अवैध इंटरनेशनल टेलीफोन एक्सचेंज का हुआ भंडाफोड़, संचालक गिरफ्तार
प्रतीक चित्र

देश की राजधानी दिल्ली के दरियागंज और झिलमिल में चल रही अवैध इंटरनेशनल टर्मिनल जीएसएम टर्मिनेशन एक्सचेंज का भंडाफोड़ किया गया है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुशवाहा ने इस बात की जानकारी मीडिया को दी।

दिल्ली पुलिस के डीसीपी प्रमोद कुशवाहा ने कहा कि इस सिंडिकेट के संचालक को बुलंदशहर के खुर्जा से गिरफ्तार कर लिया गया है। जिसका नाम नवाब है।

देश के कई हिस्सों में चल रही हैं अवैध टेलीफोन एक्सचेंज 

डीसीपी प्रमोद कुशवाहा के अनुसार पिछले 2 महीने में खुफिया जानकारी प्राप्त हो रही थी कि दिल्ली-एनसीआर और देश के कई हिस्सों में अवैध टेलीफोन एक्सचेंज चल रहे हैं।  जिससे दूरसंचार क्षेत्र के को भारी आर्थिक नुकसान हो रहा है। ऐसे अवैध एक्सचेंजों की उपस्थिति और संचालन राष्ट्रीय दूरसंचार सुरक्षा के लिए खतरा है। ऐसे सेटअपों का पता लगाने के लिए खुफिया एजेंसियों के साथ जांच शुरू की गई। इन एक्सचेंजों का भंडाफोड़ करने के लिए तकनीकी और मैनुअली निगरानी की गई। सूचना प्राप्त हुई की बाहर से आने वाली अंतरराष्ट्रीय कालों की एक बड़ी मात्रा स्विच कर रही थी। यह दरियागंज क्षेत्र में स्थित कहीं राउटर के जरिए आ रही थी।

वर्चुअल कमांड के जरिए किया जा सकता है ऑपरेट 

उन्होंने आगे कहा,” अवैध टेलिफोन एक्सचेंज की जगह का पता लगाने के लिए टीमों को लगाया गया। दरियागंज के भीड़भाड़ वाले इलाके में लगातार काम करने के बाद टीम ने लीज लाइन और ब्रॉडबैंड इंटरनेट कनेक्शन के एक नेटवर्क का पता लगाया। जो एक मकान की तीसरी मंजिल पर चल रहा था। चेकिंग करने पर फ्लैट में ताला मिला। इसी बीच यह भी पता चला कि संदिग्ध अवैध टेलीफोन एक्सचेंज को दूर से यानि वर्चुअल कमांड के द्वारा कंट्रोल सेंटर के माध्यम से चलाया जा सकता है।”

DoT के अधिकारियों के साथ पुलिस ने की छापेमारी 

6 जुलाई 2021 DoT के अधिकारियों के साथ दरियागंज के उसी मकान में छापेमारी की गई। मकान की तलाशी में दो सरवर बॉक्स जो कि वोडाफोन सेवा प्रदाता है कि 25000 लाइनों की क्षमता वाले पकड़े गए। तीन हाई स्पीड डीटीएच राउटर एक एसआईपी ट्रंक और एक लैपटॉप आपस में जुड़ा हुआ मिला जो ऑन था।

डॉट के अधिकारियों द्वारा सेटअप का निरीक्षण किया गया था। जिसके बाद यह पुष्टि की गई कि इसका उपयोग भारत के कानूनी गेटवे को दरकिनार करते हुए भारत में अंतरराष्ट्रीय काल को रूट करने के लिए किया जा रहा था। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने केस दर्ज कर लिया है । जांच के दौरान पता चला कि अवैध अंतरराष्ट्रीय एक्सचेंजों चलाने वाला खुर्जा का रहने वाला नवाब है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here