वैश्विक भूख सूचकांक में भारत 107 देशों में से 94 वे स्थान पर, देखे पूरी लिस्ट

0
वैश्विक भूख सूचकांक में भारत 107 देशों में से 94 वे स्थान पर
वैश्विक भूख सूचकांक 2020 

ग्लोबल हंगर इंडेक्स सूचि में भारत की स्थिति पाकिस्तान बांग्लादेश और म्यांमार से ज्यादा गंभीर है। वैश्विक भूख सूचकांक 2020 में बांग्लादेश 75 वे , म्यांमार 78 वे और पाकिस्तान 88 वे स्थान पर है।

भारत ग्लोबल हंगर इंडेक्स 2020 में 107 देशों में से 94 वे स्थान पर है। पिछले साल 2019 में भारत का 117 देशों की सूचि में 102वां  स्थान था। वैश्विक भूख सूचकांक में बांग्ला देश ,म्यांमार और पाकिस्तान की स्थिति भारत से बेहतर है।

GHI की रिपोर्ट के अनुसार,भारत में 14 फीसदी आबादी कुपोषण का शिकार है। पांच साल से कम उम्र के बच्चों की मृत्यु दर 3.7 फीसदी है। 37.4 बच्चे कुपोषण के कारण बढ़ नहीं पाते।

अंतराष्ट्रीय खाद्य निति शोध संस्थान की वरिष्ठ शोधकर्ता पूर्णिमा मेनन के अनुसार,भारत के उत्तर प्रदेश ,मध्य प्रदेश और बिहार जैसे बड़े राज्यों में सुधार की आवश्यकता है। राष्ट्रीय औसत ,उत्तर प्रदेश ,बिहार और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों से प्रभावित होती है।

पूर्णिमा मेनन ने कहा, अगर हम भारत की औसत में सुधार चाहते हैं तो बिहार ,उत्तर प्रदेश,मध्य प्रदेश और झारखंड जैसे राज्यों में सुधार करना होगा। ग्लोबल हंगर इंडेक्स की पूरी लिस्ट यहाँ देखें

जीएचआई स्कोर चार घटक संकेतकों के मूल्यों पर आधारित हैं: अल्पपोषण (अपर्याप्त कैलोरी सेवन के साथ जनसंख्या का हिस्सा), बाल बर्बाद करना (पांच वर्ष से कम आयु के बच्चों का हिस्सा जिनकी ऊंचाई के लिए कम वजन है, तीव्र कुपोषण को दर्शाता है), बाल स्टंटिंग (शेयर पांच वर्ष से कम आयु वाले बच्चे जिनकी आयु कम होती है, क्रोनिक अल्पपोषण को दर्शाते हैं), और बाल मृत्यु दर (पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चों की मृत्यु दर, आंशिक रूप से अपर्याप्त पोषण और अस्वास्थ्यकर वातावरण के घातक मिश्रण को दर्शाती है। )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here