Site icon www.4Pillar.news

भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान ने इंजन में खराबी के कारण रिहायशी इलाके में फेंके बम

भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान ने इंजन में खराबी के कारण रिहायशी इलाके में फेंके बम

भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान ने इंजन में खराबी के कारण रिहायशी इलाके में फेंके बम

भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान को उस समय विमान में रखे हुए बम फेंकने पड़े जब उड़ान के दौरान एक पक्षी विमान के इंजन से टकरा गया। इंजन खराब हो जाने के बाद पायलट को विमान का ईंधन भी बहा देना पड़ा।

समाचार एजेंसी एएनआई ने वायुसेना के सूत्रों के हवाले से बताया कि सिर्फ एक ही इंजन से पक्षी टकराया था और पायलट विमान को अंबाला के एयरबेस में सुरक्षित उतारने में कामयाब रहा। किसी तरह के नुकसान की कोई खबर नहीं है।

भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान का पायलट विमान को एयरबेस में सुरक्षित उतारने में सफल रहा। किसी तरह के जान माल के नुकसान की कोई खबर नहीं है।

उड़ान के दौरान होने वाली आपात स्थिति में पायलटों को विमान के पंखों के नीचे रखे गए सामान को गिरा देना पड़ता है। जिनमें विमान में रखी रसद सामग्री और बम भी हो सकते हैं।

घटना उस समय हुई जब जगुआर विमान उस बॉउंड्री वॉल तक पहुंचने वाला था , जो एयरबेस को अंबाला के ‘बलदेव नगर’ से अलग करती है। गिराए गए सामान का कुछ हिस्सा एक मकान की छत पर गिरा और कुछ सामान सड़क पर गिरा।

एम्बुलेंस और फायर ब्रिगेड की गाड़ियों को तुरंत घटनास्थल पर रवाना किया गया। भारतीय वायुसेना के वरिष्ठ अधिकारी भी इलाके में तलाशी अभियान के लिए भेजे गए।

इसी साल जनवरी में उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक जगुआर विमान क्रैश हुआ था। विमान जब गोरखपुर से रूटीन मिशन पर उड़ान भरने के बाद उसमें तकनीकी खराबी आ गई थी। विमान के पायलट विंग कमांडर रोहित कटोच विमान से सुरक्षित जंप करने में कामयाब रहे थे।

आपको बता दें भारतीय वायुसेना के पास 100 जगुआर विमान हैं ,जिन्हे 70 के दशक में यूरोप से आयात किया गया था।

Exit mobile version