इज़राइल की राजनयिक अडवा विलचिंस्की को हुआ हिंदी से प्यार,याद आया इंडिया

कहा जाता है विश्व की सभी भाषाओँ की जननी संस्कृत भाषा है।संस्कृत से ही सभी भाषाओँ का जन्म हुआ है। हिंदी भाषा संस्कृत की ही देन है। अगर भारत के वेद-पुराणों की लिपि की बात की जाए तो सभी संस्कृत भाषा में ही लिखे गए हैं। भारत देश में अनेकों भाषाएं बोली जाती हैऔर देश की राष्ट्रभाषा हिंदी है।

हिंदी भाषा का विश्व में दिन प्रति दिन विस्तार हो रहा है। इसी सिलसिले में इज़राइल की राजदूत ‘अडवा विलचिंस्की’ ने अपने ट्विटर एकाउंट पर हिंदी में ट्वीट करते हुए लिखा। उन्होंने लिखा ,” मैंने भारत आते ही हिंदी सीखनी शुरू की थी और मेरी आशा है की मैं न्यूयॉर्क में इस ख़ूबसूरत भाषा में वार्ता करती रहूं क्यूंकि मुझे इस भाषा से प्यार है। मिस यू इंडिया।”

‘अडवा विलचिंस्की’ अब न्यूयॉर्क चली गई हैं ,इसकी जानकारी उन्होंने अपने ट्वीटर एकाउंट के माध्यम से दी है और वहीं से उन्होंने ट्वीट करते हुए हिंदी भाषा और इंडिया को याद करते हुए हिंदी में ट्वीट किया है।

आपको बता दें, इज़राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दोबारा सत्ता में आने पर बधाई देते हुए हिंदी में ट्वीट किया था। उन्होंने अपने ट्वीट में पीएम मोदी को शुभकामनाएं देते हुए लिखा था ,” मेरे दोस्त नरेंद्र मोदी, आपके प्रभावशाली चुनावी जीत पर हार्दिक बधाई। ये चुनावी नतीजे एक बार फिर दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में आपके नेतृत्व को साबित करते हैं। हम साथ मिलकर भारत और इज़राइल के बीच घनिष्ठ मित्रता को मजबूत करना जारी रखेंगे । बहुत बढ़िया, मेरे दोस्त।”

Comments

Translate »