लॉकडाउन ने हमें दिखा दिया कि जीने के लिए प्रकृति की कितनी जरूरत है : माधुरी दीक्षित

आज विश्व पृथ्वी दिवस की 50वीं वर्षगांठ है। अंतराष्ट्रीय पृथ्वी दिवस मनाए जाने की शुरूआत वर्ष 1970 में हुई थी। तब से लेकर आजतक 22 अप्रैल को विश्व पृथ्वी दिवस मनाया जाता है।

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के कारण दुनियाभर के 186 से भी ज्यादा देशों में हाहाकार मचा हुआ है। चूंकि,अभी तक इस वायरस की कोई वैक्सीन तैयार नहीं हुई है। इससे बचने का एक ही विकल्प, सामाजिक दुरी बनाए रखना है। हालांकि कोवीड-19 के प्रसार पर रोक लगाने के लिए कई देशों ने अपने यहां लॉकडाउन किया हुआ है।

जहां, लॉकडाउन से इस बीमारी को फैलने से रोकने में मदद मिल रही है,वहीँ लॉकडाउन का असर प्रकृति पर भी नजर आ रहा है। सभी तरह के यातायात के साधन और फैक्ट्रियों के बंद होने से वातावरण के शुद्धता स्तर में भारी इजाफा हुआ है।

वातावरण आई शुद्धता को लेकर बॉलीवुड एक्ट्रेस माधुरी दीक्षित ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने अपने सोशल मीडिया प्लेटफार्म इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर किया है। जिसमें वह साइकिल चलाती हुई नजर आ रही है। ये भी पढ़ें : विराट कोहली और अनुष्का शर्मा मना रहें शादी की दूसरी सालगिरह, देखें खूबसूरत तस्वीरें

माधुरी दीक्षित ने इंस्टाग्राम पर वीडियो साझा करते हुए कैप्शन में लिखा ,” इस लॉकडाउन ने हमें दिखाया कि प्रकृति को पुनर्जीवित करने और पनपने देने के लिए कितनी आवश्यकता है। ”

उन्होंने आगे लिखा ,” 50वे पृथ्वी दिवस के अवसर पर हम सभी अपनी तरफ से प्रतिज्ञा लें कि उपयोग में नहीं आने वाले उपकरणों को बंद करें ,पेड़ लगाएं ,ईंधन और पानी का उपयोग परंपरागत तरीके से करें। हम सब मिलकर के बेहतर दुनिया का निर्माण कर सकते हैं। जिसपर हम सभी को गर्व हो। “

Comments

Translate »