भारत को अखंड रहना है तो हिंदू को हिंदू ही रहना पड़ेगा: मोहन भागवत

RSS प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि भारत को भारत रहना है तो भारत को हिंदू रहना ही पड़ेगा । हिंदू को हिंदू रहना है तो भारत को एकात्मक और अखंड बनना ही होगा।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने मध्य प्रदेश के ग्वालियर में शनिवार के दिन एक कार्यक्रम को संबोधित किया। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख ने इस कार्यक्रम में हिंदुओं को एकजुट रहने और हिंदुत्व के बारे में कई बातें कहीं। उन्होंने कहा, आप देखेंगे कि हिंदुओं की संख्या कम हो गई है। हिंदुओं की ताकत कम हो गई है। हिंदुत्व का भाव कम हो गया है। अगर हिंदू को हिंदू रहना है तो भारत अखंड रहना ही पड़ेगा। अगर भारत को भारत रहना है तो हिंदू को हिंदू ही रहना पड़ेगा। हिंदू के बिना भारत नहीं और भारत के बिना हिंदू नहीं।

भारत पाकिस्तान बटवारे पर साधा निशाना

1947 में भारत-पाकिस्तान बंटवारे पर मोहन भागवत ने निशाना साधते हुए कहा कि हिंदू के बिना भारत नहीं भारत के बिना हिंदू नहीं रहेगा। आप हिंदुस्तान है। भारत और हिंदू अलग हो नहीं सकते। उन्होंने हिंदू राष्ट्र का नाम ना ले कर भी साफ कहा कि भारत को भारत रहना है तो भारत को हिंदू ही रहना पड़ेगा। हिंदू को हिंदू रहना है तो भारत को अखंड रहना ही होगा। हिंदू समाज मनुष्यों का बना हुआ है। इंसानों को ध्यान रखना पड़ता है, देखो बात नहीं रही है, हम नहीं रहेंगे  किसी को भी देख लो जो अखंड भारत में था वो आज नहीं है।

“भारत टूटा,पाकिस्तान हुआ। क्योंकि हम इस भाव को भूल गए हैं कि हम हिंदू हैं। पाकिस्तान में मुसलमान भी भूल गए। खुद को हिंदू मानने वालों की पहले ताकत कम हुई। फिर संख्या कम हुई। इस लिए पाकिस्तान भारत नहीं रहा। ” संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा।

धार्मिक जनसंख्या का भी जिक्र किया

अपने संबोधन में उन्होंने धार्मिक जनसंख्या का भी जिक्र किया। संघ प्रमुख ने कहा कि देख लो, देश कहां-कहां समाज की आर्थिक दशा है? कहां-कहां देश की अखंडता एकात्मता को खतरा है? कहां पर सामाजिक और आर्थिक समस्याएं ज्यादा है ? आप देखोगे हिंदुओं की संख्या और ताकत कम हो गई है या हिंदुत्व का भाव कम हो गया है।

दैनिक स्वदेश के 50 वर्ष पूरे हुए

RSS सरसंघचालक ने यह बातें संघ से जुड़े दैनिक स्वदेश के 50 वर्ष पूरे होने पर आयोजित स्वर्ण जयंती समारोह को संबोधित करते हुए कहीं। मोहन भागवत के अलावा इस कार्यक्रम में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी शामिल हुए।

Comments

Translate »