पेट्रो पदार्थों के दाम और महंगाई को लेकर पंचकूला शहर में आम आदमी का विरोध प्रदर्शन

आम आदमी पार्टी ने देश में दिन प्रतिदिन पैट्रोल-डीजल की बढ़ रही कीमतों और बढ़ती महंगाई को लेकर गहरी चिंता व्यक्त की है। इसी मुद्दे को लेकर आज पार्टी ने सेक्टर 11-15 के चौराहे पर एक विरोध प्रदर्शन किया। पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं द्वारा एक खच्चर गाड़ी को एक चौक से दूसरे चौक तक घसीटते हुए पेट्रोल व डीजल की वृद्धि के साथ-साथ महंगाई का भी विरोध किया गया।

AAP पार्टी का कहना है कि केंद्र सरकार से न तो देश की अर्थव्यवस्था संभल रही है और न ही पैट्रोल डीजल के साथ-साथ बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी और कोरोना जैसी भयंकर बीमारी संभाली जा रही है। विरोध प्रदर्शन के दौरान आप कार्यकर्ताओं के हाथ में पेट्रो पदार्थों की वृद्धि व महंगाई के विरोध लिखे हुए नारों के बैनर एवं तख्तियां थी।  कुछ देर के लिए कार्यकर्ता और नेता घोडागाड़ी पर सवार पर भी स्वार हुए थे और यह दर्शाने का प्रयास किया जा रहा था कि जिस तरह से पेट्रोल व डीजल की कीमतों में लगातार वृद्धि हो रही है,उसके चलते आने वाले दिनों में घोड़ागाड़ी की ही स्वारी करनी पड़ेगी।

AAP पार्टी का कहना है कि केंद्र सरकार से न तो देश की अर्थव्यवस्था संभल रही है और न ही पैट्रोल डीजल के साथ-साथ बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी और कोरोना जैसी भयंकर बीमारी संभाली जा रही है।
आप का विरोध प्रदर्शन

इस अवसर पर बोलते हुए पार्टी के उत्तरी हरियाणा जोन के सचिव योगेश्वर शर्मा का कहना है कि तकरीबन तकरीबन सभी राज्यों में पैट्रोल के दाम सौ रुपये लीटर के आंकडे को छूने जा रहे हैं। मगर सरकार आमजन को इससे राहत देने की बजाये अपनी कमाई को प्राथमिक्ता दे रही है। जबकि महामारी के दौर में पहले से बढ़ती आ रही महंगाई के कारण आम  आदमी को खाने के लाले पड़ रहे हैं।

उन्होंने कहा कि केंद्रीय पैट्रोलियम मंत्री का गुजरात के  दौरे के दौरान दिया गया यह ब्यान शर्मनाक है कि सरकार की आमदनी कम है , इस लिए तेल के दाम अभी नहीं घटा सकते। उन्होंने कहा कि मंत्री यह कह रहे हैं कि 2020-21 के दौरान आमदनी कम रही और 2021-22 में भी आमदनी काफी कम रहने के आसार हैं और सरकार के खर्चे बढ़ गये हैं। जबकि सरकार के खर्चे वेबजह के हैं। उन्होंने कहा कि जब सरकार की आय ही नहीं है तो फिर 20 हजार करोड़ की लागत से नया सांसद भवन क्यों बनाया जा रहा है।

आप उत्तरी हरियाणा जोन के सचिव योगेश्वर शर्मा ने आगे कहा कि पड़ोसी मुल्को मे भी पेट्रोल व डीजल के दाम इतने नहीं है, जितने कि हमारे देश में लोगों से वसूले जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में भी कच्चे तेल की कीमतों में भारी कमी है, मगर केंद्र सरकार की ओर से इस पर लगाए गए टैक्सो की भरमार ही इतनी है कि देशभर में पेट्रोल का दाम प्रति लीटर सौ रुपए का आकड़ा पार कर  चुका है। वहीँ डीजल भी लगातार उसका पीछा करते हुए इसी ओर बढ़ रहा है।

आप उत्तरी हरियाणा जोन के सचिव योगेश्वर शर्मा ने आगे कहा कि पड़ोसी मुल्को मे भी पेट्रोल व डीजल के दाम इतने नहीं है, जितने कि हमारे देश में लोगों से वसूले जा रहे हैं।पार्टी का कहना है कि यह जरुरी नहीं कि आप चुनावों के दौरान ही पैट्रो पद्धार्थों की कीमतों में कमी करके आमजन को राहत दे। आमजन को बिना चुनाव के भी इन दिनों राहत की जरुरत है। उन्होंने कहा कि देश व प्रदेश के लोग महंगाई की मार से पहले से ही बुरी तरह से दुखी है, ऊपर से आए दिन पेट्रोल व डीजल की कीमतें बढऩे से चौतरफा महंगाई की मार पड़ती है।

जिला प्रधान सुरेंद्र राठी ने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से पैट्रो पद्धार्थों की लगातार बढ़ती कीमतों पर यह कहकर पल्ल झाड़ लिया जाता है कि यह रेट कंपनियां बढ़ा रही हैं। लोगों की जेबों पर लगातार डाका डाला जा रहा है। जबकि हकीकत यह है कि सरकार स्व्यं ही इनकी कीमतों में कमी हो इसके लिए कोई प्रयास ही नहीं कर रही। वह अपना मुनाफाखोरी का कोई मौका भी किसी सूरत में नहीं छोडऩा चाहती।

उन्होंने कहा कि कोरोना के इस दौर में जहां लोगों के रोजगार चले गये, वहीं छोटे दूकानदारों के कामकाज ही बंद हो गये। ऐसे में रोटी की चिंता सबके लिए हो रही है। राठी ने कहा कि सरकार ने अपने बड़े पूंजीपति मित्रों को तो पहले ही काफी लाभ पहुंचा दिया। मगर आम आदमी भूखमरी की कागार पर पहुंच चुका है। ऐसे में कुछ बेरोजगार युवाओं का अपराधिक गतिविधियों में संलिप्त्त होने की भी संभावनाओं से इंकार नहीं किया जा सकता।

Comments

Translate »