Shangri-La Valley : शांगरी-ला दुनिया की ऐसी रहस्यमयी घाटी है जहां जाने वाला शख्स कभी वापस लौटकर नहीं आया

हमारी पृथ्वी पर कई ऐसे रहस्यमयी स्थान हैं जिनके बारे में विज्ञान भी खुलासा नहीं कर पाई । ऐसी ही एक जगह भारत और चीन के बॉर्डर पर है । जिसे शांगरी-ला घाटी के नाम से जाना जाता है । आइए जानते हैं क्यों दुनिया भर में चर्चा का विषय बनी हुई है यह घाटी ।

भारत के आरुणाचल प्रदेश और तिब्बत,चीन सीमा के बीच सांगरी-ला घाटी है । यह घाटी अपने आप में बहुत सारे रहस्यों घिरी हुई है । इस रहस्यमयी घाटी के बारे में कई शोधकर्ताओं और ज्योतिषविदों ने जिक्र तो किया है लेकिन पूर्ण रूप से इसके बारे में आजतक कोई नहीं बता पाया । यह घाटी कहां पर है ? इस बारे में भी कोई सटीक जानकारी नहीं है ।

शांगरी-ला घाटी का रहस्य 

जनश्रुतियों के अनुसार, शांगरी-ला घाटी में लोग जब तक चाहें वहां रुक सकते हैं । लेकिन वापिस नहीं आ सकते । विश्व भर के लोग इस घाटी के बारे में पता लगाने में नाकाम रहे हैं । हालांकि कई शोधकर्ताओं और वैज्ञानिकों ने भी इस घाटी के रहस्य के बारे में जानने की कोशिश की है ,लेकिन नाकामी ही हाथ लगी ।

मशहूर तंत्र साहित्य लेखक अरुण कुमार शर्मा ने अपनी किताब ‘तिब्बत की वह रहस्यमयी घाटी’ में इस  जिक्र किया है । अरुण शर्मा के अनुसार दुनिया में कुछ ऐसी जगह हैं ,जहां जाकर व्यक्ति या वस्तु का आस्तित्व दुनिया से मिट जाता है ।

कोई नहीं जान पाया शांगरी ला घाटी का रहस्य 

तिब्बत भाषा में प्रकाशित हुई एक किताब ‘काल विज्ञान’ में भी इस घाटी का जिक्र है । तिब्बती विद्वान युत्सुंग के अनुसार इस घाटी का संबंध ब्रह्माण्ड के किसी लोक से है । तंत्र साधना ,अध्यात्म जगत और तंत्र-मंत्र के क्षेत्र से जुड़े लोगों के लिए यह घाटी विश्व भर में मशहूर है । जेम्स हिलटन नामक लेखक ने भी अपनी किताब ‘ द लास्ट हॉरिजोन’ में इस रहस्यमयी घाटी का जिक्र किया है । इन सबके दावों के बाद भी आजतक शांगरी-ला घाटी के रहस्य को कोई नहीं सुलझा पाया ।

Comments

Translate »