पंजाब के पटियाला में हिंसा के बाद हटाए गए एसपी, एसएसपी और आईजी, इंटरनेट सेवा बंद

पटियाला में हिंसा के बाद पंजाब सरकार एक्शन में आई है। मामले की गंभीरता देखते हुए पंजाब सरकार ने पटियाला रेंज के पुलिस महानिरीक्षक , वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक और पुलिस अधीक्षक को तत्काल प्रभाव से ट्रांसफर कर दिया है। पटियाला में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई है।

बीते दिन हिंदू संगठनों और खालिस्तान समर्थकों के बीच हुई हिंसा के बाद आज शनिवार के दिन पटियाला में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं। पटियाला में हालात पर काबू रखने के लिए भारी सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं। राज्य सरकार ने सुबह 9:30 बजे से लेकर शाम 6:00 बजे तक पूरे पटियाला में मोबाइल इंटरनेट बंद कर दिया है।

इंटरनेट सेवाएं बंद

आम आदमी पार्टी के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार ने विज्ञप्ति में कहा,” मोबाइल इंटरनेट सेवाएं सभी s.m.s. सुविधाएं, सभी डोंगल सेवाएं आदि जो नेटवर्क प्रदान करती हैं। पटियाला जिले के क्षेत्रीय क्षेत्र अधिकार में वॉइस कॉल को छोड़कर सुबह 9:30 बजे से लेकर शाम 6:00 बजे तक बंद रहेंगी। पंजाब राज्य में सभी दूरसंचार सेवा प्रदाताओं और बीएसएनएल के प्रमुख को इस आदेश का अनुपालन करने के लिए निर्देश दिए गए हैं। पंजाब में सभी दूरसंचार सेवा प्रदाताओं और बीएसएनएल के प्रमुख को आदेश का अनुपालन करने का निर्देश दिया गया है ।”

पुलिस अधिकारीयों पर गिरी गाज

पंजाब सरकार ने पटियाला रेंज के इंस्पेक्टर जनरल , सीनियर सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस और सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस को तुरंत प्रभाव से हटा दिया है। अब सुखविंदर छीना को आईजी , दीपक पारेख को एसएससी और वजीर सिंह को पटियाला के नए एसपी के तौर पर नियुक्त किया गया है।

श्री काली माता मंदिर के पास हुई थी झड़प

कल श्री काली माता मंदिर के बाहर उस समय झड़प हुई थी जब शिवसेना के सदस्यों ने खालिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए मार्च शुरू किया था। दोनों गुटों के सदस्यों ने तो तलवारें भी लहराई और एक दूसरे पर पथराव किया। पंजाब के सीएम भगवंत मान की अध्यक्षता में उच्च स्तरीय बैठक के बाद शिवसेना नेता हरीश सिंगला को हिरासत में लिया गया। सीएम भगवंत मान ने घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि उनकी सरकार किसी को भी राज्य में अशांति पैदा करने नहीं देगी।

Comments

Translate »