कथित जमीन घोटाले को लेकर हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा के घर रोहतक में सीबीआई ने छापा मारा

भूपिंदर सिंह हुड्डा 71, ने 1982 में वकालत छोड़कर राजनीती में किया था प्रवेश।

नई दिल्लीः कथित जमीन घोटाले को लेकर सीबीआई पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुडा के रोहतक में घर सहित 30 अन्य ठिकानों पर छापेमारी कर रही है।

2 जनवरी 2019 को सीबीआई अदालत ने कॉग्रेस के वरिष्ठ नेता मोती लाल वोरा और भूपिंदर सिंह हुड्डा को एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड अवैध भूमि आबंटन मामले में जमानत दी थी। पंचकूला में वर्ष 2005 का था केस।

भूपिंदर सिंह हुडा के वकील अभिषेक राणा ने कहा कि सीबीआई के जज जगदीप सिंह ने पांच-पांच लाख रूपये के के बेल बांड पर दोनों को जमानत दी है। केस की अगली सुनाई 6 फरवरी को होगी। दोनों नेताओं को उनके खिलाफ आरोप पत्र की प्रतियां भी सौंपी गई।

सूत्रों के अनुसार पूर्व मुख्यमंत्री हुडडा अभी अपने रोहतक वाले घर पर ही हैं। हुड्डा ने भविष्यवाणी की थी कि बीजेपी आगामी लोकसभा चुनावों में बुरी तरह हारेगी।

CBI is conducting raids at various locations across Delhi-NCR in connection with a fresh case registered in alleged land scam matter involving former Haryana Chief Minister BS Hooda. pic.twitter.com/H6lWFZAed7— ANI (@ANI) January 25, 2019

विधानसभा चुनाव 2019 को सेमीफइनल के रूप में माना जा रहा था। हिंदी भाषी राज्यों में कांग्रेस की मजबूत पकड़ है। राहुल गाँधी के कुशल नेतृत्व में कंग्रेस देश की राजनीती में उथल पुथल मचाने वाली है। इसका श्रेय राहुल गाँधी और कार्यकर्ताओं को जाता है। एनडीए सरकार की उलटी गिनती शुरू हो गई है। ऐसा श्री हुड्डा ने कहा।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा,भाजपा ने किसानों की बुरी हालत को नजरअंदाज किया है। सरकार ने किसानों की दुर्दशा के बारे में कोई चिंता नहीं की। ये एक बड़ा राजनितिक मुद्दा रहा है।

उन्होंने बीजेपी को घेरते हुए कहा ,छोटे व्यापारियों को जीएसटी ने और नोटबंदी ने बुरी तरह खत्म कर दिया है। प्रदेश में बेरोजगारी भी एक प्रमुख मुद्दा है ,युवा बेरोजगार घूम रहे हैं।

श्री हुड्डा जोकि वकील से राजनितज्ञ बने ने 1982 में अपना राजनैतिक सफर शुरू किया। भूपेंद्र सिंह हुड्डा के दादा चौधरी मातु राम और उनके पिता चौधरी रणवीर सिंह भी सक्रिय राजनीती में रहे।

श्री हुड्डा गाँधी परिवार के सबसे वफादार लोगों में से एक हैं। उन्होंने साफतौर पर कहा कि उनका एकमात्र लक्ष्य सोनिया गाँधी द्वारा निर्धारित अजेंडा को लागु करना है। वर्ष 2005 में सोनिया गाँधी ने भजन लाल को हटाकर हुड्डा को हरियाणा का मुख्यमंत्री बनाया था।

Comments

Translate »