पीएम नरेंद्र मोदी को डिवाइडर इन चीफ बताने वाले लेखक आतिश अली तासीर से केंद्र सरकार ने वापस लिया OCI कार्ड

0
The central government withdrew OIC card from author Atish Ali Taseer, who described PM Narendra Modi as India's divider in chief.
केंद्र सरकार ने ब्रिटेन में जन्मे आतिश अली तासीर का ओवरसीज सिटिजन ऑफ़ इंडिया कार्ड वापस ले लिया है। दरअसल उन्होंने कथित तौर पर तथ्य छुपाया है कि उनके पिता

केंद्र सरकार ने ब्रिटेन में जन्मे आतिश अली तासीर का ओवरसीज सिटिजन ऑफ़ इंडिया कार्ड वापस ले लिया है। दरअसल उन्होंने कथित तौर पर तथ्य छुपाया है कि उनके पिता पाकिस्तान मूल के थे।

नागरिकता अधिनियम 1955

गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने ट्वीट कर बताया कि नागरिकता अधिनियम 1955 के अनुसार आतिश अली तासीर ओवरसीज सिटिजन ऑफ़ इंडिया कार्ड के लिए अयोग्य हो गए हैं।

क्योंकि ओआईसी कार्ड किसी ऐसे व्यक्ति को नहीं दिया जा सकता जिसके माता-पिता,दादा-दादी पाकिस्तानी होंऔर उन्होंने यह बात छुपाकर रखी थी। प्रवक्ता ने बताया कि तासीर ने बुनियादी जरूरतों को पूरा नहीं किया और जानकारी को छुपाया।

फर्जीवाड़ा

नागरिकता अधिनियम 1955 के अनुसार,अगर किसी व्यक्ति धोखे से फर्जीवाड़ा कर या तथ्य छुपाकर ओआईसी कार्ड हासिल किया है तो ओआईसी कार्ड धारक के रूप में उसका पंजीकरण रद्द कर दिया जायेगा और उसे ब्लैक लिस्ट कर दिया जाएगा। साथ ही, भविष्य में उसके भारत में आने पर रोक लग जाएगी।


ये थी वजह

आपको बता दें ,आतिश अली तासीर पाकिस्तान के दिवंगत नेता सलमान अली तासीर और भारतीय पत्रकार तवलीन सिंह के बेटे हैं। आतिश अली तासीर ने लोकसभा चुनाव 2019 के समय अमेरिका की फेमस पत्रिका टाइम्स मैगज़ीन में पीएम मोदी को एक लेख में ‘डिवाइडर इन चीफ ऑफ़ इंडिया’ बताया था।

जिसमें गुजरात दंगों से लेकर नोटबंदी तक का जिक्र किया गया था। उस समय तासीर की खूब आलोचना हुई थी। विपक्षी दलों ने भारतीय जनता पार्टी पर इस लेख का हवाला देते हुए कटाक्ष किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here