टीवी पत्रकार अमन चोपड़ा का अरेस्ट वारंट लेकर नोएडा पहुंची राजस्थान पुलिस खाली हाथ लौटी

राजस्थान पुलिस की टीम रविवार के दिन News18 टीवी पत्रकार अमन चोपड़ा को गिरफ्तार करने के लिए नोएडा पहुंची थी। लेकिन अमन चोपड़ा को गिरफ्तार नहीं कर पाई। क्योंकि वह घर पर ताला लगा कर किसी दूसरी जगह चला गया था।

इन धाराओं के तहत केस दर्ज

अमन चोपड़ा के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 124 ए ( देशद्रोह ) 295 ए ( धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के इरादे से काम करना) और 153 ए  (विभिन्न समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देना ) तथा आईटी अधिनियम की धारा 67 के तहत मामला दर्ज किया गया था। जिसकी डूंगरपुर कोतवाली थाने के एस एच ओ जांच कर रहे हैं।

हाई कोर्ट ने लगाई गिरफ्तारी पर रोक

राजस्थान हाई कोर्ट ने शनिवार के दिन अलवर और बूंदी जिलों में अमन चोपड़ा के खिलाफ दर्ज किए गए दो मामलों में गिरफ्तारी पर रोक लगाने का आदेश दिए थे। हालांकि अदालत ने डूंगरपुर जिले में दर्ज तीसरी एफआईआर में उनकी गिरफ्तारी पर रोक नहीं लगाई। जिसमें से एक स्थानीय अदालत ने पत्रकार के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया। वहीँ ,राजस्थान पुलिस का कहना है कि उनकी टीम शनिवार को नोएडा में अमन चोपड़ा के घर गई थी। लेकिन वह वहां पर नहीं मिला। पुलिस ने यह भी कहा कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने उनके साथ सहयोग नहीं किया।

दूसरी बार अरेस्ट करने पहुंची राजस्थान पुलिस

रिपोर्ट के अनुसार यह दूसरी बार था जब राजस्थान पुलिस की टीम अमित चोपड़ा को गिरफ्तार करने के लिए दिल्ली से सटे नोएडा पहुंची थी। पुलिस के अनुसार पिछली बार की तरह इस बार भी उत्तर प्रदेश पुलिस ने एक पुलिस स्टेशन में ले जाकर उनसे कुछ जानकारी लेने को के लिए कहा और काफी देर तक इंतजार करवाया। डूंगरपुर के सुपरिंटेंडेंट ऑफ़ पुलिस सुधीर जोशी ने बताया कि हमारे अतिरिक्त एसपी ने उन्हें अमन चोपड़ा के खिलाफ मामले की पहले की जानकारी दे दी थी।

एसपी डूंगरपुर का आरोप

राजस्थान के डूंगरपुर के एसपी ने आरोप लगाते हुए कहा कि हमारी टीम को नोएडा पुलिस स्टेशन में इंतजार करने के लिए कहा गया। तब तक आरोपी वहां से निकल चुका था। टीम चोपड़ा के घर पहुंची तो वहां ताला लटका मिला। आपको बता दें कि अमन चोपड़ा के खिलाफ पिछले महीने राजस्थान के अलवर में एक मंदिर के तोड़ने के बाद उनके टीवी शो के कंटेंट को लेकर चार एफ आई आर दर्ज की गई थी। जिसमें से पहला मामला 23 अप्रैल को डूंगरपुर और बांसवाड़ा में दूसरा मामला बूंदी में और तीसरा मामला 24 अप्रैल को अलवर में दर्ज किया गया था। जिस तरह चोपड़ा के खिलाफ 4 जगह एफ आई आर दर्ज की गई थी।

क्या है मामला ?

टीवी पत्रकार अमन चोपड़ा के खिलाफ दर्ज मामलों के अनुसार ,उन्होंने अपने टीवी शो में झूठे और काल्पनिक दावे किए थे। चोपड़ा ने अपने शो में दिल्ली के जहांगीरपुरी में हुए दंगों का जिक्र करते हुए राजस्थान में मंदिर विध्वंस के बारे में बात कही थी। चोपड़ा ने राजस्थान के अलवर में नगर पालिका के द्वारा तोड़े गए मंदिर मामले को दिल्ली के जहांगीरपुरी में अवैध अतिक्रमण के खिलाफ बदले की कार्रवाई बताया था। अमन चोपड़ा ने अपने ट्विटर अकाउंट से भी एक ट्वीट किया था। जिसमें उन्होंने लिखा ,” जहांगीरपुरी में बुलडोजर का दंड, अलवर में शिवलिंग खंड खंड ? ” ये ट्वीट उन्होंने 22 अप्रैल 2022 को किया था।

Comments

Translate »