Elon Musk को कंपनी खरीदने से रोकने के लिए Twitter ने लिया Poison Pill का सहारा

विश्व के नंबर एक अरबपति एलन मस्क ने ट्विटर कंपनी को खरीदने की पेशकश की है। जिसके जवाब में ट्विटर के बोर्ड ने एक खास रणनीति का सहारा लिया है। इस रणनीति का नाम ‘जहर की गोली’ है।

टेस्ला कंपनी के फाउंडर एलन मस्क द्वारा ट्विटर के टेकओवर की कोशीश को रोकने के लिए ट्विटर बोर्ड ने बड़ा दाव चला है। मस्क की पेशकश पर बोर्ड ने Poison Pill का सहारा लिया है। दरअसल, ट्विटर ने कंपनी को खरीदने के लिए एलन मस्क की 43 बिलियन डॉलर के ऑफर के जवाब में शुक्रवार के दिन एक शेयरधारक अधिकार योजना को अपनाया है। जिसे जहर की गोली के रूप में जाना जाता है।

द न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार Poison Pill की रणनीति ट्विटर को नए शेयरों के साथ बाजार में बाढ़ लाने देती है। यह नीति मौजूदा शेयर धारकों को बोली लगाने के अलावा, उन्हें छूट पर खरीदने की अनुमति देती है। द न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, एक बार एक साथ काम करने वाले व्यक्ति या समूह के लोग 15 फीसदी से अधिक शेयर खरीद लेते हैं तो कंपनी को टेकओवर करने की कोशिश करने वाले किसी भी व्यक्ति को बोर्ड से अनुमति लेनी पड़ेगी। ट्विटर की पाइजन पिल योजना 14 अप्रैल 2023 तक लागू रहेगी।

ये भी पढ़ें, Elon Musk ने ट्विटर को खरीदने के लिए 42 अरब डॉलर की पेशकश की

आपको बता दें ,एलन मस्क ने ट्विटर को खरीदने के लिए नकदी तौर पर 54.2 डॉलर प्रति शेयर खरीदने का ऑफर दिया था। मस्क ऊंचे ऑफर से निवेशकों से सीधे तौर पर जरूरी हिस्सेदारी खरीदने के रणनीति पर काम कर रहा है। इसी वजह से ट्विटर बोर्ड ने नई रणनीति को अपनाया है।

Comments

Translate »