हम सर्टिफाइड गुंडे हैं, हमें किसी प्रमाण पत्र की जरूरत नहीं, बीजेपी शिवसेना झड़प पर बोले संजय राऊत

मुंबई के दादर इलाके में शिवसेना और भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं के बीच बुधवार के दिन झड़प हो गई थी। इस झड़प पर शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने अपनी प्रतिक्रिया दी है।

शिवसेना-बीजेपी के कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़प के बाद सांसद संजय राउत ने कहा, “गुंडा होने का सर्टिफिकेट हमें किसी से नहीं चाहिए। हम सर्टिफाइड गुंडे हैं।” उन्होंने आगे कहा जब बात मराठी गौरव और हिंदुत्व की आती है तब हम सर्टिफाइड गुंडे हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी का कार्यालय राज्य और यहां के लोगों का सिंबल है। संजय रावत ने आगे कहा बालासाहेब ठाकरे शिवसेना भवन में बैठते थे। अगर कोई शिवसेना भवन को टारगेट करेगा तो हम जवाब देंगे। अगर यह गुंडागर्दी कहलाता है तब हम गुंडे हैं।

जानिए क्या है मामला

बीते दिनों आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने राम मंदिर के लिए खरीदी गई जमीन में कथित तौर पर हुए घोटाले का जिक्र किया था। उन्होंने कहा था कि राम मंदिर के लिए दो करोड़ में खरीदी गई भूमि 10 मिनट बाद 18.5 करोड में बेची गई। सांसद संजय सिंह ने कथित घोटाले को लेकर सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय की जांच करवाने की मांग की थी। जिसके बाद शिवसेना के मुखपत्र सामना में एक आर्टिकल छपा था। इसके बाद भारतीय जनता पार्टी की युवा इकाई के सदस्य बुधवार के दिन शिवसेना भवन के पास प्रदर्शन करने पहुंचे थे।

बुधवार के दिन हुए शिवसेना भवन के सामने प्रदर्शन में के दौरान भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई थी। शिवसेना विधायक सदा सावरकर ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि हमें पहले पता चला था कि बीजेपी कार्यकर्ता यहां प्रदर्शन करने के लिए आ रहे हैं। बाद में यह जानकारी मिली थी वह सेना भवन में तोड़फोड़ मचाने के लिए आ रहे हैं। इसलिए हमने उन्हें सेना भवन के नजदीक आने से रोका।

इस झड़प के बाद पुलिस ने बताया कि 30 लोगों को के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 188, 269 और महामारी अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।

Comments

Translate »