INDvNZ: भारतीय टीम में विराट कोहली की वापसी के लिए कौन सा बल्लेबाज देगा कुर्बानी,जानिए किस खिलाडी को किया जा सकता है टीम से बाहर

भारत और न्यूजीलैंड के बीच मुंबई में दूसरा टेस्ट खेलने के लिए टीम इंडिया के सामने बड़ा संकट खड़ा होने वाला है।  भारतीय टीम को इस दौरान एक अहम फैसला लेना पड़ सकता है। जिसमें विराट कोहली की वापसी के लिए किसी दूसरे बल्लेबाज को आराम दिया जा सकता है।

न्यूजीलैंड और भारत के बीच दूसरा टेस्ट मैच मुंबई में खेला जाएगा। इस मैच में विराट कोहली की वापसी होगी। इससे पहले कानपुर में खेले गए पहले टेस्ट मैच में विराट कोहली ने आराम ले रखा था। लेकिन दूसरे टेस्ट से पहले टीम इंडिया के सामने समस्या यह है कि कोहली के प्लेइंग लेवल में आने के लिए कौन सा बल्लेबाज बाहर जाएगा?

इन बल्लेबाजों में से किसी एक को देनी होगी कुर्बानी

श्रेयस अय्यर के शतक लगाने और चेतेश्वर पुजारा जैसे सीनियर बल्लेबाजों के नाकाम होने के बाद अब यह सवाल और  और भी ज्यादा पेचीदा हो गया है। साथ ही टीम इंडिया 5 बल्लेबाजों में से किसी एक को बाहर नहीं कर सकती। ऐसे में मयंक अग्रवाल चेतेश्वर पुजारा शुभ्मन गिल अजिंक्य रहाणे सुरेश अय्यर में से किसी एक को बाहर जाना पड़ेगा।

रहाणे को इस वजह से मिल सकता है आराम

सबसे ज्यादा अधिक अजिंक्य रहाणे पर तलवार लटक रही है। कानपुर टेस्ट की दोनों पारियों में उनके बल्लेबाजी नाकाम रही और अर्ध शतक तक नहीं लगा पाए। इसके साथ ही वर्ष 2021 में उनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा। इस साल 12 टेस्ट मैच में रहाणे की रन बनाने की औसत केवल 19.57 की है। उनका घरेलू रिकॉर्ड भी काफी खराब रहा है। जिन भारतीय बल्लेबाज ने घर में कम से कम 32 टेस्ट मैच खेले हैं उनमें से केवल मंसूर अली खान पटौदी और महेंद्र सिंह अमरनाथ ही अजिंक्य रहाणे से पीछे हैं। रहाणे की भारतीय पिच पर औसत 35.73 की है। साल 2018 में जब टीम इंडिया दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर गई थी तब अजिंक्य रहाणे को खराब प्रदर्शन के चलते टीम से बाहर कर दिया गया था। एक बार फिर अजिंक्य रहाणे को टीम से बाहर किया जा सकता है।

पुजारा भी हो सकते हैं बाहर

चेतेश्वर पुजारा का हाल ही में प्रदर्शन अच्छा नहीं है । उनकी रन बनाने की औसत 30.42 की है। जबकि वर्ष 2020 में है औसत 20.37 थी। इस तरह उनका खराब प्रदर्शन भी उन्हें टेस्ट मैच से बाहर कर सकता है। उन्हें टेस्ट शतक बनाए हुए एक लंबा अरसा हो चुका है। घरेलू मैदान पर चेतेश्वर पुजारा की औसत 55.33 की है। ऐसे में शायद उनकी जगह बच जाए। टीम इंडिया की मैनेजमेंट पुजारा से ओपनिंग कराने का फैसला भी ले सकती है। इससे पहले भी वह ऐसा कर चुके हैं और सलामी बल्लेबाज के रूप में वह छह पारियों में 116 की औसत से रन बना चुके हैं। वह 3 बार आउट हुए हैं। हर बार उन्होंने भारतीय उपमहाद्वीप की पिचों पर ओपनिंग की है।

ये भी जा सकते हैं बाहर

मयंक और शुभ्मन गिल में से भी किसी को बाहर किया जा सकता है। वैसे दोनों सलामी बल्लेबाज के रूप में पहली पसंद नहीं है। दोनों रोहित शर्मा और केएल राहुल के नहीं होने के चलते टेस्ट खेल रहे हैं। मयंक जनवरी 2021 के बाद पहली बार कई टेस्ट खेले लेकिन बड़े रन नहीं बना पाए। वहीं शुभ्मन गिल ने टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के बाद पहला टेस्ट खेला। उन्होंने पहली पारी में अर्धशतक लगाया। लेकिन दूसरी पारी में वह खास प्रदर्शन नहीं कर पाए। अगर मैनेजमेंट पुजारा से ओपनिंग कराने का फैसला लेती है तो मयंक और गिल में से किसी एक को बाहर जाना ही होगा।

कौन बनेगा कुर्बानी का बकरा

बात करें श्रेयस अय्यर की तो कानपुर में अपने कैरियर का डेब्यू टेस्ट मैच खेलकर उन्होंने जबरदस्त छाप छोड़ी है। अपने पहले टेस्ट मैच की दो पारियों में उन्होंने शतक और अर्धशतक लगाए हैं। ऐसे में उनके बाहर जाने की संभावना बहुत कम नजर आ रही हैं। लेकिन वर्ष 2016 में इंग्लैंड की टीम भारत आई थी उस समय करुण नायर ने चेन्नई में ट्रिपल सेंचुरी लगाई थी। लेकिन अगले टेस्ट में उन्हें बाहर जाना पड़ा था। ऐसे में अय्यर को शायद टीम से बाहर भी जाना पड़ सकता है। अगर ऐसा होता है तो एक युवा बल्लेबाज के साथ यह बहुत नाइंसाफी होगी। अब ये तो मैनेजमेंट ही फैसला लेगी कि कौन कोहली के कारण कुर्बानी का बकरा बनेगा।

Comments

Translate »