क्या विधान सभा चुनाव 2019 में EVM की जगह मत पत्रों का इस्तेमाल होगा ?

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा, राजनितिक पार्टियां इस मुद्दे को उठाती रही हैं। हमने उन्हें विनम्रता और दृढ़ता के साथ कहा मत पत्र अब इतिहास हो गए हैं।

चुनाव आयोग ने अगले महीने महाराष्ट्र विधान सभा चुनाव में मत पत्रों का इस्तेमाल किए जाने से इंकार करते हुए कहा कि ये अब इतिहास हो गए हैं। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने ईवीएम का बचाव करते हुए कहा कि इस मशीनों के साथ छेड़छाड़ नहीं की जा सकती। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने राज्य में चुनाव की तैयारियों की समीक्षा के बाद संवाददाताओं से बातचीत करते हुए यह भी कहा कि विधान सभा चुणाव में उम्मीदवारों के खर्च में फ़िलहाल कोई बदलाव नहीं हो रहा है। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और शिव सेना जैसी पार्टियों की मौजूदा 28 लाख रुपए से ज्यादा चुनावी खर्च बढ़ाने की मांग को लेकर उन्होंने यह टिप्पणी की।चुनाव 2019:चुनाव आयोग ने की घोषणा,जाने पूरा विवरण

ईवीएम के बारे में बोलते हुए सुनील अरोड़ा ने कहा, ” यह किसी अन्य मशीन ,आपकी घड़ी या गाडी की तरह खराब हो सकती है। लेकिन इसके साथ छेड़छाड़ नहीं हो सकती। यह अन्य मशीनों से हटकर है।” दीवाली से पहले पार्टियों द्वारा चुनावों की मांग को लेकर सुनील अरोड़ा ने कहा कि चुनाव आयोग कार्यक्रम तैयार करने से पहले सभी कारकों पर विचार करता है। चुनाव आयोग का फैसला,आज से सोशल मीडिया पर लगी आचार संहिता

Comments

Translate »