अमरनाथ गुफा के पास बादल फटने से 13 श्रद्धलुओं की मौत 48 लापता, बचाव अभियान जारी

जम्मू कश्मीर में पवित्र अमरनाथ गुफा के पास बदल फटने से 13 श्रद्धालुओं की मौत हो गई है । जबकि 48 लोग लापता बताये जा रहे हैं । यह घटना शुक्रवार शाम को करीब साढ़े पांच बजे घटी है । एनडीआरएफ , भारतीय सेना, जम्मू कश्मीर पुलिस और अर्धसैनिक बलों का बचाव अभियान जारी है ।

शुक्रवार शाम को अमरनाथ गुफा मंदिर के पास बदल फटने से कम से कम 13 तीर्थयात्रियों  की मौत हो गई है । जबकि घायलों और लापता लोगों की संख्या 48 के करीब बताई जा रही है । हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार बचाव अभियान जारी है और इस हादसे में और लोगों के हताहत होने की आशंका है ।

ऐसे हुआ हादसा

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, ऊपरी इलाके में भारी बारिश के बाद गुफा के ऊपर से अचानक पानी की लहर दौड़ने लगी । हर जगह पानी ही पानी  नजर आ रहा था । घटना की जानकारी देते हुए आईटीबीपी के प्रवक्ता ने कहा ,” स्थिति  नियंत्रण में है और बारिश अभी भी हो रही है । भावी खतरे को देखते हुए अमरनाथ यात्रा को अस्थाई तौर पर रोक दिया गया है । अगर मौसम सामान्य रहा तो यात्रा को फिर से बहाल किया जायेगा ।

बचाव अभियान जारी

एनडीआरएफ , एसडीआरएफ सहित अन्य बचाव दल रेस्क्यू ऑपरेशन को अंजाम दे रहे हैं । घायलों  को एयरलिफ्ट कर इलाज के लिए उधमपुर भेजा जा रहा है । इस बचाव अभियान में सेना के हेलीकाप्टरों की मदद ली जा रही है ।

11 अगस्त को समापत होगी यात्रा

आपको बता दें , बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए 43  दिन की वार्षिक यात्रा दक्षिण कश्मीर के पहलगाम में पारंपरिक 48 किलोमीटर के  नूंवां मार्ग और मध्य कश्मीर के गांदरबल में 14 किलोमीटर के बालटाल मार्ग से 30 जून 2022 को शुरू हुई थी । अमरनाथ यात्रा 11 अगस्त को रक्षाबंधन के अवसर पर समाप्त होगी । अभी तक 71 हजार से अधिक श्रद्धालु गुफा में बर्फानी बाबा के दर्शन कर चुके हैं ।

Comments

Translate »