असम में डॉक्टर की पिटाई के आरोप में 24 लोग गिरफ्तार, सीएम हेमंत सरमा बोले- फ्रंटलाइन वर्कर्स पर इस तरह के हमले बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे

असम के मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि फ्रंटलाइन वर्कर पर ऐसे हमले बर्दास्त नहीं किए जाएंगे । इस हमले में 24 लोगो को गिरफ्तार किया गया है, और मैं खुद इस मामले पर नजर बनाये रखूंगा।

कोरोना महामारी के दौरान जहाँ डॉक्टर्स अपना जीवन दांव पर लगाकर कोरोना मरीजों की सेवा में जुटे हैं,ऐसे में लोगो को उनका मनोबल बढ़ाना चाहिए। इसके विपरीत लोग उनपर गाली- गलोच करने और उनकी पिटाई करने में लगे है। ऐसा ही एक ताजा मामला असम के होजाई जिले से सामने आया है।

असम में इलाज के दौरान एक कोरोना मरीज की मौत हो हो जाने से लोगो ने युवा डॉक्टर की जमकर पिटाई की। डॉक्टर की पिटाई का वीडियो शेयर करते हुए असम के मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि फ्रंटलाइन वर्कर्स पर ऐसे बर्बर अटैक बर्दाश्त नहीं किया जाएंगे।

उन्होंने ट्वीट कर बताया कि “बर्बर हमले में 24 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है, आरोपपत्र जल्द ही दाखिल किया जायेगा। मैं खुद इस मामले पर नजर बनाये रखूंगा और वादा करता हूँ की कानून के तहत न्याय होगा”

वहीँ इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) डॉक्टर पर हुए इस हमले से बहुत दुःखी है। आईएमए के प्रेसिडेंट डॉ जेऐ जयलाल ने कहा “इंडियन मेडिकल एसोसिएशन और देश की पूरी बिरादरी युवा और सीनियर डॉक्टर सीयूज कुमार सेनपती की पिटाई से बहुत दुःखी और गुस्से में है। ऐसे में जहां सरकार और लोगो को उनका मनोबल बढ़ाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि लोग उनपर गलत टीका-टिपण्णी और उनकी पिटाई करने में लगे है। अस्पतालों को सुरक्षित जॉन घोसित किया जाना चाहिए ताकि डॉक्टर्स वहां आराम से रह सके। हम ऐसी घटनाओ पर रोक लगाने के लिए कड़ी करवाई की माँग करते हैं।”;

Comments

Translate »